मानव शरीर को मिला 79वां अंग

आयरलैंड स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ लिमरिक के एक शोध में पाया गया कि यह अंग हमारे पाचन तंत्र का हिस्सा है। इस अंग को मेसेन्टरी यानी आंत्रसंयोजी कहते हैं।

मानव शरीर को मिला 79वां अंग

मानव शरीर का 79वां अंग मिला है। आयरलैंड स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ लिमरिक के एक शोध में पाया गया कि यह अंग हमारे पाचन तंत्र का हिस्सा है। इस अंग को मेसेन्टरी यानी आंत्रसंयोजी कहते हैं। यह पेट को आंत से जोड़ता है।

पहले माना जाता था कि मेसेन्टरी कई अलग-अलग हिस्सों से मिलकर बना है। लेकिन यूनिवर्सिटी ऑफ लिमरिक में प्रोफेसर ऑफ सर्जरी जे. केल्विन कॉफी के अनुसार यह एकल संरचना है।

जे. केल्विन कॉफी ने अपने शोध में बताया है कि उनकी इस खोज से कई लाभ होगें। विज्ञान के उन क्षेत्रों तक भी हम पहुंचेगे जो पहले पता नहीं थे। रोगों को नए सिरे से समझने में आसानी होगी।

चिकित्सा क्षेत्र से जुड़ी किताब ग्रे एनाटोमी ने मानव शरीर के अंगों की जानकारी अपडेट करते हुए इसमें मेसेन्टरी को शामिल कर लिया है। लेकिन अब इस अंग पर गहन वैज्ञानिक शोध करने की जरूरत है ताकि पता चले कि दरअसल यह अंग कौन-कौन से काम करता है।

प्रोफेसर कॉफी बताते हैं कि हमने इस अंग के रचना विज्ञान और आकार का पता लगा लिया है। अब हमें ये पता लगाना है कि इसका काम क्या है। उनके मुताबिक अब दूसरे मानव शरीर के दूसरे अंगो और तंत्र की तरह इसके बारे में भी छानबीन होनी चाहिए।

माना जा रहा है कि यह अंग अब कोलोरेक्टल कैंसर, इंफ्लेमेटरी बाउल रोग जैसी आंत से जुड़ी बीमारियों, डायबिटीज और मोटापा को समझने और इन्हें ठीक करने में अहम भूमिका निभा सकता है।