8 लोगों के पास दुनिया की आधी आबादी के बराबर संपत्ति: ऑक्सफैम

ऑक्सफैम ने एक रिपोर्ट में जानकारी दी कि आठ लोगों के पास उतनी संपत्ति है जितनी दुनिया की आधी आबादी के पास है।

8 लोगों के पास दुनिया की आधी आबादी के बराबर संपत्ति: ऑक्सफैम

ऑक्सफैम ने सोमवार को एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी कि आठ लोगों के पास उतनी संपत्ति है जितनी दुनिया की आधी आबादी के पास है। खास बात यह है कि ये सभी आठों व्यक्ति पुरुष हैं। जिन आठ उद्योगपतियों का जिक्र ऑक्सफेम ने किया है उनमें अमेरिका के छह, स्पेन और मेक्सिको के एक-एक उद्योगपति शामिल हैं।

वर्ल्ड इकॉनमिक फोरम की सालाना मीटिंग के पहले ऑक्सफेम ने कहा कि धन की खाई पहले से कहीं ज्यादा व्यापक हुई है। भारत और चीन के नए आंकड़ों पर गौर किया जाए तो पता चलता है कि दुनिया के आधे गरीब पहले से और गरीब हुए हैं। ऑक्सफैम ने इसे अशुभ बताते हुए कहा कि अगर यह डेटा थोड़ा पहले मिल जाता तो पता चलता कि 2016 में इतनी ही संपत्ति नौ लोगों के पास होती। 2010 में 43 लोगों के पास दुनिया के आधे लोगों के बराबर संपत्ति हुआ करती थी।

उद्योगपतियों का चयन फोर्ब्स की अरबपतियों की सूची से किया है जिनमें माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर बिल गेट्स, फेसबुक के को-फाउंडर मार्क जकरबर्ग और ऐमजॉन के फाउंडर जेफ बेजोज शामिल हैं। ऑक्सफेम ने दुनिया में अमीर और गरीबों के बीच के व्यापक अंतर व मुख्यधारा की राजनीति में उत्पन्न हो रहे असंतोष को रेखांकित किया।

इस सूची में माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स करीब 5 लाख करोड़ रुपए की संपत्ति के साथ शीर्ष पर हैं। उनके बाद अमांसियो ऑर्तेगा (करीब 4.5 लाख करोड़ रुपये), वॉरेन बफेट (करीब 4.14 लाख करोड़ रुपये) का नंबर आता है। चौथे नंबर पर 3.6 लाख करोड़ के साथ मैक्सिकन कारोबारी कार्रोस स्लिम, पांचवें पर जेफ बेजोस (3 लाख करोड़), उसके बाद फेसबुक के संस्थापक और सीईओ मार्क जकरबर्ग (2.95 लाख करोड़ रुपये), लैरी एलिसन, ओरेकल कॉर्प (2.9 लाख करोड़ रुपये), माइकल ब्लूमबर्ग (2.7 लाख करोड़) का नाम आता है।

अपनी एक नई रिपोर्ट 'ऐन इकॉनमी फॉर द 99 पर्सेंट' में ऑक्सफैम ने कहा कि ब्रेक्जिट से लेकर डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने की सफलता तक, नस्लवाद में वृद्धि व मुख्यधारा की राजनीति में अस्पष्टता से चिंता बढ़ रही है। वहीं संपन्न देशों में ज्यादा से ज्यादा लोगों में यथा स्थिति बर्दाशत न करने के संकेत भी अधिक दिख रहे हैं।