संविधान सबकाे अपनी रिवायतें को बचाने की इजाजत देता है: आेवैसी

अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने जलीकट्टू से लेकर कौमी एकता दल के बसपा में विलय के मुद्दे पर बात की। आेवैसी ने इस मामले काे लेकर कहा कि संविधान का आर्टिकल 29 सबको अपनी रिवायतें को बचाने की इजाजत देता है।

संविधान सबकाे अपनी रिवायतें को बचाने की इजाजत देता है: आेवैसी

अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने जलीकट्टू से लेकर कौमी एकता दल के बसपा में विलय के मुद्दे पर बात की। इतना ही नहीं ओवैसी ने जलीकट्टू के साथ ही ट्रिपल तलाक का सवाल भी उठाया। उन्होंने कहा कि जलीकट्टू के समर्थकों से मुसलमानों को सबक लेने की जरूरत है। उन्होंने मुरली मनोहर जोशी को पद्म अवॉर्ड दिए जाने पर भी सवाल उठाया। मीडिया से खास बातचीत में असदुद्दीन ओवैसी ने कही ये बातें।

जलीकट्टू के समर्थन में ओवैसी
संविधान का आर्टिकल 29 सबको अपनी रिवायतें को बचाने की इजाजत देता है। जिस प्रकार से जलीकट्टू के समर्थन में लोग सामने आ रहे हैं। उसी प्रकार से हर किसी को अपने कल्चर को बचाने का अधिकार है। इन लोगों ने मोदी सरकार को बता दिया है कि इस मुल्क में एक कल्चर नहीं चलेगा। तमिलनाडु की आवाम ने एकजुटता की एक अच्छी मिसाल पेश की है।  हिंदुस्तान में एक नहीं बेशुमार कल्चर हैं।

जैसे जलीकट्टू के लिए तमिलनाडु के लोगों ने आवाज उठाई वैसे ही हमे भी तलाक के मसले पर आवाज उठानी चाहिए। हमे कोई नहीं बताएगा कि हम शादी कैसे करें और तलाक कैसे दें। हम अपनी परंपरा के मुताबिक ये सब करेंगे।

वहीं पर मुरली मनाेहर जाेशी को पद्मा अवार्ड देने से नाखुश ओवैसी ने कहा कि बाबरी विध्वंस केस में आरोपी हैं मुरली मनोहर जोशी। जोशी के खिलाफ केस चल रहा है, ऐसे व्यक्ति को यह अवार्ड देना ठीक नहीं। सबका साथ सबका विकास की बात करने वाली मोदी सरकार सबको हिंदुत्व की तहजीब में ढालना चाहती है।

कौमी एकता दल का बसपा में विलय बड़ी बात नहीं
कौमी एकता दल के बहुजन समाजवादी पार्टी में विलय पर ओवैसी ने कहा हर पार्टी में अपराधी पाए जाते हैं। बाकी पार्टियों में भी क्रिमिनल चार्ज वाले लोग बैठे हुए हैं। बीएसपी को इस पर जवाब देना चाहिए।