‘साइकिल’ से उतरकर 'हाथी' पर चढ़े अम्बिका चौधरी

अखिलेश यादव कैबिनेट से बर्खास्त मंत्री और मुलायम खेमे के अम्बिका चौधरी ने शनिवार को समाजवादी पार्टी से इस्तीफा देकर बसपा ज्वाइन कर लिया. लखनऊ में उन्होंने मायावती की उपस्थिति में पार्टी ज्वाइन की.

‘साइकिल’ से उतरकर

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव से पहले सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी को पार्टी को आज बड़ा झटका लगा है। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता अंबिका चौधरी बहुजन समाज पार्टी में शामिल हो गए हैं।

अम्बिका चौधरी ने बताया कि पिछले कुछ महीनों से जो कुछ भी समाजवादी पार्टी में हुआ उससे कहीं न कहीं बीजेपी प्रदेश में मजबूत हुई. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की कलह की वजह से सेक्युलर शक्तियां कमजोर हुई. यही वजह है कि दलित और अल्पसंख्यकों के हितों की रक्षा के लिए उन्होंने बसपा ज्वाइन की है.

अभी तक बहुजन समाज पार्टी के बड़े नेता पार्टी छोड़ रहे थे, लेकिन आज अंबिका चौधरी के बहुजन समाज पार्टी में शामिल होने को प्रदेश के बड़े दल को बड़ा झटका माना जा रहा है। अंबिका चौधरी अखिलेश सरकार में कैबिनेट मंत्री थे। उनको अखिलेश ने बर्खास्त कर दिया था। इससे पहले भी वह लंबे समय तक मुलायम सिंह यादव सरकार में भी कैबिनेट मंत्री के पद पर काम कर चुके थे। बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने कहा कि अंबिका चौधरी को बहुजन समाज पार्टी बलिया में उनकी पुरानी सीट फेफना से विधानसभा चुनाव लड़ाएगी ।

मायावती ने कहा जितना सम्मान उन्हें सपा में मिला उससे कहीं ज्यादा बसपा में दिया जाएगा. मायावती ने उन्हें उनकी सीट बलिया से बसपा का प्रत्याशी भी घोषित किया.

बता दें अम्बिका चौधरी मुलायम और शिवपाल के करीबी माने जाते थे. अखिलेश और शिवपाल के बीच चली तनातनी में उनका भी विकेट गिरा था. हालांकि उन पर जमीन कब्जाने का आरोप भी लगा था.