ऑस्‍ट्रेलियन ओपन: पुरुष वर्ग में चैंपियन बने 35 साल के रोजर फेडरर

साल के पहले ग्रैंडस्‍लैम ऑस्‍ट्रेलियन ओपन में इस बार मेंस सिंगल्‍स फाइनल में यह श्रेय 35 साल के रोजर फेडरर ने हासिल किया। संघर्षपूर्ण फाइनल मुकाबले में फेडरर ने स्‍पेन के राफेल नडाल को 6-4, 3-6, 6-1, 3-6, 6-3 से हराकर चैंपियनशिप अपने नाम की।

ऑस्‍ट्रेलियन ओपन: पुरुष वर्ग में चैंपियन बने 35 साल के रोजर फेडरर

साल के पहले ग्रैंडस्‍लैम ऑस्‍ट्रेलियन ओपन में इस बार उम्रदराज खिलाड़ि‍यों में परचम लहराया है। महिला वर्ग में जहां 35 साल की सेरेना विलियम्‍स ने बड़ी बहन सेरेना विलियम्‍स को हराकर खिताब अपने नाम किया, वहीं मेंस सिंगल्‍स फाइनल में यह श्रेय 35 साल के रोजर फेडरर ने हासिल किया। संघर्षपूर्ण फाइनल मुकाबले में फेडरर ने स्‍पेन के राफेल नडाल को 6-4, 3-6, 6-1, 3-6, 6-3  से हराकर चैंपियनशिप अपने नाम की। बताया जा रहा है कि फेडरर के करियर का यह18 वां ग्रैंडस्‍लैम है।

मीडिया रिपाेर्टस के मुताबिक दुनिया के महानतम टेनिस खिलाड़ियो में शुमार फेडरर इसके साथ ही तीन ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट को पांच या पांच से अधिक बार जीतने वाले पहले टेनिस खिलाड़ी बन गए हैं। उन्‍होंने मेलबर्न पार्क के रॉड लेवर एरेना में खेले गए खिताबी मुकाबले में अपने चिर-प्रतिद्वंद्वी स्पेन के राफेल नडाल को मात देकर यहां पांचवीं बार खिताबी जीत दर्ज की। फाइनल मैच तीन घंटे 37 मिनट चला. फेडरर ने जहां अपना 18वां ग्रैंडस्‍लैम जीता, वहीं नडाल 15वां ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने से चूक गए।

फेडरर ने पांच साल के अंतराल के बाद कोई ग्रैंड स्लैम जीता है। अंतिम बार उन्होंने 2012 में विंबलडन खिताब अपने नाम किया था। फेडरर ने इससे पहले 2010 में  ऑस्ट्रेलियन ओपन खिताब जीता था। फेडरर और नडाल के बीच खेल गया नौंवा ग्रैंड स्लैम फाइनल मुकाबला रोमांच से भरा रहा। पहले सेट को फेडरर ने 6-4 से जीता, वहीं दूसरे सेट में नडाल ने उन्हें 6-3 से पीछे किया। इसके बाद तीसरे सेट में एक बार फिर फेडरर ने अच्छा खेल दिखाते हुए 6-1 से जीत हासिल की। नडाल ने फिर अच्छा प्रदर्शन कर चौथे सेट को 6-3 से अपने नाम किया। मुकाबले पांचवां और निर्णायक सेट भी दोनों के बीच रोमांचक रहा. इस सेट को 6-3 से जीतकर फेडरर ने अपने करियर का 18वां एकल ग्रैंड स्लैम खिताब अपने नाम किया।



 फेडरर ने इस खिताबी मुकाबले में कुल 20 एस लगाए जबकि नडाल सिर्फ चार एस लगा सके। फेडरर के नाम कुल 73 विनर्स रहे जबकि नडाल के नाम 35 रहे। बेजा  गलतियों (अनफोर्स्‍ड एरर्स) के मामले में नडाल बेहतर स्थिति में रहे। नडाल ने कुल 28 बेजा गललियां कीं जबकि फेडरर ने 57 कीं। फेडरर ने पूरे मैच में 150 अंक हासिल किए जबकि नडाल के नाम 139 अंक रहे। नडाल ने फेडरर के खिलाफ खेले गए पिछले आठ ग्रैंड स्लैम फाइनलों में से छह में जीत हासिल की है, जबकि फेडरर तीन बार नडाल को खिताबी मात देने में सफल रहे हैं। ऑस्ट्रेलियन ओपन जीतने के बाद नडाल और फेडरर के बीच का स्कोर 6-3 हो गया है।

इस खिताबी जीत के बाद फेडरर ने उन सभी अटकलों को खारिज कर दिया है, जिसमें उनके टेनिस जगत से संन्यास की बात की जा रही थीं। इसके साथ ही फेडरर ने अपने पूर्व कोच पॉल एनाकोनो के कथन को भी सच कर दिखाया। पॉल ने कहा था कि चोट से उभरने के बाद छह माह बाद टेनिस जगत में वापसी कर रहे फेडरर एक और ग्रैंड स्लैम जीत सकते हैं। फेडरर को पिछले साल जुलाई में विंबलडन ओपन के सेमीफाइनल में घुटने में चोट लगी थी। फेडरर टेनिस जगत में पांच या पांच से अधिक बार तीन ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट जीतने वाले खिलाड़ी हैं। उन्होंने पांच अमेरिकी ओपन, पांच ऑस्ट्रेलियन ओपन और सात विंबलडन खिताब जीते हैं।