बेंगलुरु एयरपोर्ट पर CISF जवान ने गोली मारकर की खुदकुशी

बेंगलुरु एयरपोर्ट पर सीआईएसएफ जवान ने खुद को गोली मारकर खुदकुशी की, आत्महत्या के कारणों का खुलासा नहीं।

बेंगलुरु एयरपोर्ट पर CISF जवान ने गोली मारकर की खुदकुशी

सीआईएसएफ के एक जवान ने बेंगलुरु एयरपोर्ट पर सर्विस राइफल से गोली मारकर खुदकुशी कर ली। फिलहाल उसने एेसा कदम क्यों उठाया, यह पता नहीं चल पाया है। इस मामले में ज्यादा जानकारी का इंतजार है। हाल ही में जवानों ने सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट कर सही सुविधाएं न मिलने का आरोप लगाया था।

गौरतलब है कि 12 जनवरी को बिहार के औरंगाबाद जिले के नबीनगर प्रखंड स्थित नबीनगर पावर जेनेरेटिंग कंपनी में सुरक्षा के लिए तैनात केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के एक जवान द्वारा छुट्टी पर जाने को लेकर हुए विवाद के दौरान अपने साथियों पर की गई गोलीबारी में चार जवानों की मौत हो गई थी। पुलिस अधीक्षक डा. सत्यप्रकाश ने बताया था कि गोलीबारी करने वाले जवान बलबीर को गिरफ्तार कर लिया गया है।

सत्यप्रकाश ने बताया कि बलबीर ने छुटटी पर जाने के लिए आवेदन दिया था और उन्हें छुट्टी नहीं मिल पाई थी। किसी दूसरे जवान द्वारा इस बात को लेकर उनपर तंज कसे जाने पर उन्होंने आवेश में आकर अपनी राइफल से गोलीबारी कर दी थी जिसकी चपेट में आने से चार जवानों की मौत हो गई।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी बीएसएफ जवान तेज बहादुर ने वीडियो जारी कर दावा किया था कि उन्हें खराब खाना दिया जाता है। उन्होंने इसके साथ खाने की कुछ विडियोज भी सोशल मीडिया पर डाली थीं। लोगों ने जवान के इस दावे पर सरकार की जमकर आलोचना की थी।

मामला प्रकाश में आने के बाद गृह मंत्रालय ने बीएसएफ से और पीएमओ ने गृह मंत्रालय से रिपोर्ट मांगी थी। इसके कुछ दिनों बाद एक सीआरपीएफ जवान जीत सिंह ने वीडियो जारी कर आरोप लगाया था कि उनके बल को सेना की ही तरह पेंशन, भत्ते और अन्य सुविधाएं नहीं मिलती, लेकिन फिर भी सीआरपीएफ के जवान हर जगह तैनात रहते हैं और विषम से विषम परिस्थितियों में ड्यूटी करते हैं।