"4 बीवी-40 बच्चे" वाले बयान को लेकर साक्षी महाराज पर केस दर्ज

साक्षी महाराज ने मेरठ में एक मंदिर के उद्घाटन समारोह में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि 'देश की आबादी हिंदू नहीं, बल्कि 4 पत्नियां और 40 बच्चों वाले लोगों की वजह से बढ़ रही है। इस मामले को लेकर साक्षी महाराज पर केस दर्ज हो गया है।

"4 बीवी-40 बच्चे" वाले बयान को लेकर साक्षी महाराज पर केस दर्ज



यूपी में विधानसभा चुनावों की तारीखों के एलान के साथ ही सियासी बयानबाजियों का दौर भी शुरू हो गया है। बीजेपी नेता और उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक साक्षी महाराज ने देश में बढ़ती आबादी के लिए मुस्लिम समुदाय को जिम्मेदार ठहराया है। साक्षी के इस बयान पर कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दलों ने कड़ा ऐतराज जताया है।

उत्तर प्रदेश चुनाव आयोग ने भाजपा सांसद साक्षी महाराज के कार्यक्रम को लेकर डीएम से रिपोर्ट मांगी है। आयोग ने साक्षी महाराज के कार्यक्रम वीडियो उपलब्ध कराने को भी कहा है। वहीं सादर थाने में उनके विवादित बयान को लेकर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

वहीं मामले में मेरठ के जिलाधिकारी ने कहा है कि साक्षी महाराज के कार्यक्रम की जांच के दिए गए हैं। इसके साथ ही एसएसपी ने कार्यक्रम की वीडियो सुनी जिसमें पाया गया साक्षी महाराज ने 4 पत्नियां और 40 बच्चों संबंधी भाषण दिया है। यह आचार संहिता के उल्लंघन की श्रेणी में आता है।

मीडिया में आ रहा खबरों के मुताबिक मेरठ में एक मंदिर के उद्घाटन समारोह में लोगों को संबोधित करते हुए साक्षी महाराज ने कहा कि 'देश की आबादी हिंदू नहीं, बल्कि 4 पत्नियां और 40 बच्चों वाले लोगों की वजह से बढ़ रही है। साक्षी ने हालांकि अपने भाषण में किसी समुदाय का नाम नहीं लिया, लेकिन उनका निशाना मुस्लिमों से जोड़कर ही देखा जा रहा है।

उत्तर प्रदेश चीफ इलेक्शन ऑफिसर ने साक्षी के बयान को लेकर रिपोर्ट तलब की है। बता दें कि चुनाव की तारीखों के एलान के साथ ही यूपी में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई थी। वहीं दूसरी तरफ बीजेपी ने साक्षी महाराज के बयान से किनारा कर लिया है। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने इसे साक्षी का निजी बयान बताते हुए कहा कि इसे बीजेपी का स्टैंड नहीं समझा जाना चाहिए।

वहीं साक्षी महाराज ने सरकार से जल्द से जल्द यूनिफॉर्म सिविल कोड (यूसीसी) को लागू करने की भी मांग की है। साक्षी महाराज ने सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने किसी समुदाय का नाम नहीं लिया है और उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है।