बीजेपी की दूसरी लिस्ट जारी, रिश्तेदारों को टिकट दिए जाने का विरोध

बीजेपी की दूसरी लिस्ट जारी होने के बाद से बवाल भी शुरु हो गया है। सबसे ज्यादा विरोध गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह को नोएडा से टिकट दिए जाने का हो रहा है।

बीजेपी की दूसरी लिस्ट जारी, रिश्तेदारों को टिकट दिए जाने का विरोध

बीजेपी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए अपने कैंडिडेट्स की दूसरी लिस्ट रविवार को जारी कर दी। इसमें 155 कैंडिडेट्स के नाम हैं। नरेंद्र मोदी की अपील थी कि परिवार के लोगों के लिए टिकट नहीं मांगे। इसके बाद भी इस लिस्ट में उनकी यह अपील बेअसर नजर आई। इसमें भाजपा नेताओं के 15 रिश्तेदारों और बाहरी लोगों को तवज्जो दी गई है। 94 नए चेहरे हैं। दूसरी पार्टी से आए 30 लोगों को टिकट दिया गया है। इस बार की लिस्ट में 52 फीसदी सवर्णों को टिकट दिया गया है।

बीजेपी की दूसरी लिस्ट जारी होने के बाद से बवाल भी शुरु हो गया है। सबसे ज्यादा विरोध गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह को नोएडा से टिकट दिए जाने का हो रहा है। बीजेपी नेता संजय बाली ने पंकज सिंह को टिकट मिलने के विरोध में पार्टी से इस्तीफा दे दिया है।

दूसरी लिस्ट आने के साथ ही बीजेपी यूपी की 403 विधानसभा सीटों में से 304 पर कैंडिडेट्स डिक्लेयर कर चुकी है।
- पहली लिस्ट की तरह दूसरी लिस्ट में एक भी अल्पसंख्यक कैंडिडेट नहीं है।
- पार्टी प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह इलाहाबाद से चुनाव लड़ेंगे।
- बता दें कि यूपी चुनाव बीजेपी के लिए बड़ी चुनौती माना जा रहा है।
- यहां सीएम कैंडिडेट का एलान किए बगैर पार्टी ने मोदी के चेहरे पर दांव खेला है।
ऐसे दिखा परिवारवाद
- राजस्थान के गवर्नर कल्याण सिंह की बहू और पोते को भी टिकट दिया गया। पिछली लिस्ट में पोते को भी टिकट मिला था।
- होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह के बेटे पंकज को नोएडा से टिकट दिया गया है।
- मौजूदा विधायक विमला बॉथम का टिकट काटा गया है।
- गोंडा से सांसद ब्रजभूषण सिंह के बेटे प्रतीक को टिकट दिया गया है।
- बीजेपी सांसद हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह को कैराना से टिकट।
- बढ़ापुर से सांसद सर्वेश सिंह के बेटे सुशांत सिंह, मलिहाबाद से एमपी कौशल किशोर की पत्नी जयदेवी को टिकट।
30 दलबदलुओं को टिकट दिया
- कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आईं रीता बहुगुणा जोशी को लखनऊ कैंट से टिकट दिया गया है।
- ऊंचाहार से स्वामी प्रसाद मौर्य के बेटे उत्कर्ष को टिकट दिया गया है। हालांकि, स्वामी प्रसाद टिकट नहीं मिला है।
- अमेठी से कांग्रेस नेता संजय सिंह की पहली पत्नी गरिमा सिंह को टिकट मिला है।
- बीएसपी से आए ब्रजेश पाठक को लखनऊ मध्य से टिकट दिया गया है।
- इलाहाबाद उत्तर से सपा नेता रंजना वाजपेई के बेटे हर्ष वाजपेई को कैंडिडेट बनाया गया है।
- साहसवान से बीएसपी के पूर्व एमएलसी डीपी यादव के बेटे जितेंद्र यादव को मैदान में उतारा गया है।

कहां से किसे मिला टिकट?

#लखनऊ कैंट से रीता बहुगुणा जोशी।
#लखनऊ सेंट्रल से बृजेश पाठक।
#लखनऊ नॉर्थ से डॉ. नीरज बोरा।
#लखनऊ ईस्टथ से आशुतोष टंडन 'गोपाल'
#नोएडा से पंकज सिंह।
#कैराना से मृगांका सिंह
#मेरठ कैंट से सत्य प्रकाश अग्रवाल
#साहिबाबाद से सुनील शर्मा
#डि‍बाई से डॉ. अनीता राजपूत
#बढ़ापुर से सुशांत सिंह
#हसनपुर से महेंद्र खड़गवंशी
#साहसवान से जितेंद्र
#बिल्सीन से आरके शर्मा।
#दातागंज से राजीव सिंह बब्बूर।
#मैनपुरी सदर से अशोक चौहान।
#भोगांव से राहुल राठौर।
#किश्नी से सुनील इंजीनियर।
#करहल से रमा शाक्य ।
#महोली से शशांक त्रि‍वेदी।
#सीतापुर से राकेश राठौड़।
#हरगांव से सुरेश राही।
#लहरपुर से सुनील वर्मा।
#बिसवां से महेंद्र यादव।
बीजेपी ने 304 कैंडिडेट्स को दिया टिकट, एक भी मुस्लिम नहीं
- इससे पहले बीजेपी ने 16 जनवरी को अपनी पहली लिस्टस में 149 उम्मीदवारों के नामों का एलान किया था। ये उम्मीीदवार पहले और दूसरे चरण के थे।
- इसके बाद रविवार (22 जनवरी) को 155 कैंडिडेट्स के नाम घोषित किए गए हैं।
- कुल मिला कर अब तक 304 कैंडिडेट्स घोषित किए जा चुके हैं, लेकिन इसमें से एक भी कैंडिडेट मुस्लिम नहीं है।
यूपी में 7 फेज में होनी है वोटिंग
- यूपी में 7 फेज में वोटिंग होगी। पहला फेज 11 फरवरी को, जबकि आखिरी 8 मार्च को होगा। चुनाव के नतीजों का एलान 11 मार्च को किया जाएगा।
- बता दें कि देशभर में 4033 विधानसभा सीटें हैं। 5 चुनावी राज्यों में इन सीटों की संख्या 690 है। इस तरह, देश की कुल 17% विधानसभा सीटों पर चुनाव होने वाले हैं।