सीरिया: संकट में संघर्ष विराम, सुरक्षा बलाें के हमले तेज

सीरिया में संघर्ष विराम खतरे में प्रतीत होता है क्योंकि सीरिया के सरकारी बलों ने दमिश्क के आसपास अपने हमले तेज कर दिए हैं और साथ ही करीब 10 विद्रोही समूहों ने कहा है कि वे इस महीने होने वाले शांति समझौते की वार्ता से हट रहे हैं।

सीरिया: संकट में संघर्ष विराम, सुरक्षा बलाें के हमले तेज

सीरिया में संघर्ष विराम खतरे में प्रतीत होता है क्योंकि सीरिया के सरकारी बलों ने दमिश्क के आसपास अपने हमले तेज कर दिए हैं और साथ ही करीब 10 विद्रोही समूहों ने कहा है कि वे इस महीने होने वाले शांति समझौते की वार्ता से हट रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि युद्ध विराम काे लेकर बातचीत जनवरी के अंत में कजाक राजधानी अस्ताना में होनी है, लेकिन विद्रोहियों ने कहा कि सरकारी बलों द्वारा चार दिन पुराने संघषर्विराम का उल्लंघन किए जाने के कारण वे वार्ता से हट रहे हैं। वार्ता रूस, तुर्की तथा ईरान द्वारा आयोजित कराई जा रही है। विद्रोही समूहों ने एक साझा बयान में कहा कि क्योंकि संघर्ष विराम का उल्लंघन लगातार जारी है, इसलिए विद्रोही खेमा अस्ताना समझौते से जुड़ी सभी बातचीत से हटने की घोषणा करता है।

वहीं पर आज पश्चिमोत्तर सीरिया में हुए एक हवाई हमले में कम से कम आठ व्यक्ति मारे गए हैं। मारे गए व्यक्तियों में अलकायदा से जुड़े लड़ाके और चीन के इस्लामी आतंकवादी धड़े का एक कमांडर शामिल है। ब्रिटेन स्थित सीरियन आब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स से जुड़े फतह अल शम फ्रंट के एक स्थानीय कमांडर ने अंतरराष्ट्रीय मीडिया काे बताया कि हमला कल सरमादा नगर से तुर्की की सीमा पर स्थित बाब अल हवा क्षेत्र को जाने वाली सड़क पर हुआ। आतंकवादी ने सुरक्षा चिंताओं के चलते नाम गुप्त रखने की शर्त पर एसएमएस से ही बात की। आब्जर्वेटरी के प्रमुख आर अब्दुर्रहमान ने आगे कहा कि अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि हमले के पीछे कौन है लेकिन यह व्यापक रूप से माना जा रहा है कि यह हमला अमेरिका नीत गठबंधन द्वारा किया गया है।