चीन कर रहा है पाकिस्‍तान से लगी सीमा को सील करने की तैयारी

आतंकवाद से परेशान चीन, अब पाकिस्‍तान से लगी सीमा को करेगा सील...

चीन कर रहा है पाकिस्‍तान से लगी सीमा को सील करने की तैयारी

आतंकवाद को लोकर चीन पाकिस्तान से लगी अपनी सीमा सील कर सकता है। यह जानकारी शिन्हुआ न्यूज एजेंसी ने शिनजियांग के प्रांतीय अफसर के हवाले से दी है। इसमें कहा गया है कि ‘इस साल आतंकियों को चीन में घुसने से रोकने के लिए चीन-पाकिस्तान सीमा को सील किया जाएगा।’

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो पाकिस्तान और अफगानिस्तान से ट्रेनिंग लेकर आतंकी यहां रहे हैं। शिनजियांग के होतान प्रीफेक्चर में रविवार को मुठभेड़ में तीन आतंकी मारे गए थे। होतान में ही 28 दिसंबर को हुए आतंकी हमले में पांच लोगों की मौत हुई थी।

वहीं कम्युनिस्ट पार्टी की क्षेत्रीय बैठक में शिनजियांग के पार्टी प्रमुख शोहरत जाकिर ने कहा कि पाकिस्तान से आतंकियों को चीन आने से रोकने के कदम उठाने शुरू कर दिए गए हैं। वहीं, कशगर प्रीफेक्चर के प्रमुख ने कहा कि पाकिस्तान सीमा पर अवैध घुसपैठ से बेहद तनाव है। उल्लेखनीय है कि चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारा कशगर से ही पीओके होते हुए ग्वादर बंदरगाह तक जाता है।

शिन्‍हुआ एजेंसी शिनजियांग सरकार के हवाले से यह जानकारी दी है। सरकार की ओर से कहा गया है कि वर्ष 2017 में इस क्षेत्र में आतं‍कवादियों को प्रांत में दाखिल होने और प्रांत में पहले से मौजूद आतंकवादियों को इस क्षेत्र के छोड़ने से रोकने के लिए यह कदम उठाया जाएगा। विशेषज्ञों की मानें तो चीन को इस बात से नाराजगी है कि पाक में आतंकियों की गतिविधियां खुलेआम जारी हैं और वह इस पर लगाम लगाने में असफल साबित हुआ है।

चीन को इस बात का भी डर है कि पाकिस्तान और अफगानिस्तान में आतंकियों को मिल रही ट्रेनिंग उनके लिए खतरा है साबित हो सकती है।  हाल ही है चीन के शिनजियांग प्रांत में पिछले कुछ दिनों में हिंसक हमले हुए हैं। यहां पर मौजूद लोग मानते हैं कि हमले करने वाले आतंकवादियों ने चीन के बाहर जाकर प्रशिक्षण हासिल किया और फिर गैरकानूनी तरीके से वापस लौट गए।शिनजियांग के हालातों को देखकर यहां के राजनेताओं में चिंता की स्थिति है। उन्‍हें बढ़ते इस्‍लामिक आतंकवाद को लेकर काफी चिंता है। वे यहां के स्‍थानीय आतंकियों के पाकिस्‍तान और अफगानिस्‍तान में स्थित तालिबानी कैंपों और स्‍थानीय आतंकियों के बीच करीबी संपर्क को लेकर भी काफी परेशान हैं।