कांग्रेसी सिद्धू का बीजेपी-अकाली दल पर बड़ा हमला

बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए नवजोत सिंह सिद्धू ने सोमवार को बीजेपी और अकाली दल पर जमकर निशाना साधा है।

कांग्रेसी सिद्धू का बीजेपी-अकाली दल पर बड़ा हमला

बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए नवजोत सिंह सिद्धू ने सोमवार को बीजेपी और अकाली दल पर जमकर निशाना साधा है। सिद्धू ने एक बार फिर पंजाब की बदहाली के लिए बीजेपी और अकाली सरकार को जिम्मेदार ठहराया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुतबिक उन्होंने कांग्रेस को कौशल्या मां और बीजेपी को कैकेयी बताया। सिद्धू ने ये भी कहा कि जनता को ये पता लगाना होगा कि वो मंथरा कौन है।

शायरी और श्लोक से सिद्धू ने विरोधियों पर साधा निशाना

शायरी- नाम ही खो दोगे तो किधर जाओगे, पहचान ही खो दोगे तो कहां जाओगे।

श्लोक-  यदा यदा हि धर्मस्य ग्लानिर्भवती भारत, अभ्युत्थानमधर्मस्य तदात्मान सुजाम्यहम्. परित्राणाय साधुनां विनाशाय च दुष्कृताम्, धर्मसंस्थायनार्थाय सम्भवानि धर्मसंस्थायनार्थाय सम्भवानि युगे युगे।

सिद्धू ने बादल सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इन्होंने पंजाब को खोखला कर दिया। बादल सरकार नशाखोरी रोकने में नाकाम रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस हाईकमान जो कहेगा, वो मैं करूंगा।

लंबी अटकलों के बाद बीजेपी छोड़  नवजोत सिंह सिद्धू ने रविवार को आखिरकार कांग्रेस ज्वाइन कर ली थी। इसके पहले उन्होंने राहुल गांधी से मुलाकात की थी। शनिवार को पंजाब कांग्रेस प्रेसिडेंट कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था कि सिद्धू सौ फीसदी कांग्रेस में आएंगे। वे अमृतसर ईस्ट से इलेक्शन लड़ सकते हैं। जहां से सिद्धू की पत्नी विधायक रही हैं। सिद्धू की पत्नी डॉ. नवजोत कौर भी कांग्रेस ज्वाइन कर चुकी हैं। खबर है कि कांग्रेस पंजाब के उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल की जलालाबाद सीट से सिद्धू को चुनाव लड़ा सकती है।

वहीं एक इंटरव्यू के दौरान कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस बात से साफ इनकार कर दिया था। कैप्टन अमरिंदर ने साफ कहा था कि सिद्धू को डिप्टी सीएम पद का कोई ऑफर नहीं दिया गया है। नवजोत सिंह सिद्धू अपनी मर्जी से कांग्रेस में शामिल हो रहे हैं। राज्यसभा सांसद के पद से इस्तीफा देने का बाद सिद्धू को लेकर तरह-तरह की अटकलें लागाई जा रही थी। माना जा रहा था कि वह आम आदमी पार्टी (आप) में शामिल हो सकते हैं। खुद अरविंद केजरीवाल ने बयान भी दिया था कि सीएम पद को लेकर सिद्धू के साथ बात नहीं बनी।

क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू बीजेपी से राज्यसभा सांसद थे, लेकिन पिछले साल अचानक उन्होंने पद से इस्तीफा दे दिया। कुछ दिन बाद पार्टी को भी अलविदा कह दिया। सिद्धू के आप ज्वाइन करने के भी कयास लगाए गए थे। तब अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि वे पंजाब के सीएम बनने की शर्त रख रहे हैं।