हरियाणा: दलित युवकाें पर जानलेवा हमला, 9 घायल

हरियाणा के हिसार जिले के नारनौंद मिर्चपुर गांव में आयाेजित दौड़ प्रतिस्पर्धा में दलित युवकाें की जीत के बाद फब्तियां कसने से बढ़े विवाद के बीच देर रात दोनाें पक्षों में झड़प हुई। जिसमें दलित समुदाय के नौ युवक जख्मी हो गए।

हरियाणा: दलित युवकाें पर जानलेवा हमला, 9 घायल

हरियाणा के हिसार जिले के मिर्चपुर गांव में आयाेजित दौड़ प्रतिस्पर्धा में दलित युवकाें की जीत के बाद फब्तियां कसने से बढ़े विवाद के बीच देर रात दोनाें पक्षों में झड़प हुई। जिसमें दलित समुदाय के नौ युवक जख्मी हो गए। मामले की सूचना मिलते ही पूरा प्रशासन रात को अलर्ट हो गया। इसी बीच कुछ पीड़ित परिवार गांव छोड़ने लगे तो डीसी निखिल गजराज और एसपी राजेंद्र कुमार मीणा ने गांव पहुंचकर उन्हें समझाकर रोका।

मीडिया रिपाेर्टस के अनुसार पीड़ितों ने 15 नामजद और कुछ अन्य लोगों पर मारपीट का आरोप लगाया है। पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को हिरासत में लिया है। मारपीट में घायल हाेने वाले विजयी युवक शिवकुमार, तेजभान, सोमनाथ, हरप्रीत उर्फ कोकली, वरदान, मोहित, प्रदीप, गुरमीत संदीप को पुलिस हिसार के अस्पताल में ले गई। घायलों ने पुलिस को घटना कि जानकारी देते हुए बताया कि गांव के स्कूल में सुमित नंबरदार ने खेलकूद प्रतियोगिता आयाेजित कराई थी। दलित समुदाय के शिवकुमार ने 1600 मीटर दौड़ जीती। इसके बाद उपरोक्त युवक स्कूल से घर रहे थे तो रास्ते में गांव में बस स्टैंड के समीप स्थित दलित बस्ती में चल रहे एक साइकिल के शो को देखने रुक गए। वहां पर पहले से खड़े दूसरे पक्ष ने शिव कुमार पर तानाकशी शुरू कर दी। आरोप है कि उन्होंने शराब पी हुई थी। विवाद बढ़ता देखकर शिवकुमार ने अपने भाई सोमनाथ को बुला लिया। शेष।

इसके बाद वहां काफी लोग एक जुट हो गए। इस पर दोनों पक्षों के युवकों के बीच झगड़ा हो गया। इसी झगड़े में लाठियों और ईंटों से हमला हाेना शुरु हुआ। आरोप है कि घटना के समय बीच-बचाव करने आए चौकी प्रभारी के साथ भी धक्कामुक्की की गई। ग्रामीणों ने कहा कि या तो उनका गांव से पुनर्वास करवाया जाए या फिर से सीआरपीएफ गांव में तैनात की जाए, इसके बिना वे यहां सुरक्षित नहीं रह सकते। सरपंच सत्यवान सिंह ने बताया कि इस बारे में गांव के मौजिज लोगों की बैठक बुला ली है। उनसे बातचीत की जा रही है और पूरे मामले को समझा जा रहा है।