दिल्ली के बाहर भी मिलेगी दिल्ली मेट्रो की सुविधा, केजरीवाल ने दी चौथे चरण को मंजूरी

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अब दिल्ली के बाहर भी दिल्ली मेट्रो चलने को लेकर मेट्रो के चौथे चरण को भी मंजूरी दे दी है। दिल्ली सरकार का कहना है कि इसमें जो भी खर्च आयेगा उसका आधा केंद्र सरकार देगी...

दिल्ली के बाहर भी मिलेगी दिल्ली मेट्रो की सुविधा, केजरीवाल ने दी चौथे चरण को मंजूरी

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अब दिल्ली के बाहर भी दिल्ली मेट्रो चलने को लेकर मेट्रो के चौथे चरण को भी मंजूरी दे दी है। दिल्ली सरकार का कहना है कि इसमें जो भी खर्च आयेगा उसका आधा केंद्र सरकार देगी। राष्ट्रीय राजधानी के बाहरी इलाकों में मेट्रो सेवाओं के विस्तार और हवाई अड्डे तक पहुंच को और आसान बनाने के लिए छह गलियारे वाले चौथे चरण को दिल्ली सरकार ने मंजूरी दी है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया कि इस फैसले से भीड़-भाड़ और प्रदूषण कम करने में खासी मदद मिलेगी।

बता दें कि उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि इस परियोजना पर 50,000 करोड़ रुपये का खर्च आएगा जिसमें राज्य और केंद्र आधा आधा खर्च करेगी इस परियोजना में 72 स्टेशन बनाये जाएंगे। उन्होंने कहा कि अगला अनुमोदन केंद्र सरकार से दिया जाना है। वह मिल जाने के बाद काम शुरू होगा। परियोजना निर्माण कार्य शुरू होने के छह साल बाद चालू होगा।

वहीं नयी लाइनों के प्रस्तावित गलियारों में रिठाला-नरेला (21.73 किलोमीटर), इंदरलोक-इंद्रप्रस्थ (12.58 किलोमीटर), तुगलकाबाद-एयरोसिटी (20.20 किलोमीटर), लाजपत नगर-साकेत जी ब्लाक (7.96 किलोमीटर), जनकपुरी (पश्चिम)-आर के आश्रम (28.92 किलोमीटर) और मुकुंदपुर-मौजपुर (12.54 किलोमीटर) शामिल हैं।

साथ ही एक सौ तीन किलोमीटर लंबे चौथे चरण के पूरा हो जाने के बाद यहां मेट्रो गलियारे की कुल लंबाई 450 किलोमीटर को पार कर जाएगी। इसकी विस्तृत परियोजना रिपोर्ट को जून, 2016 में मंजूरी मिली थी।