26 जनवरी पर शामिल होंगी 23 झांकियां, 23 साल बाद लक्षद्वीप भी लेगा हिस्सा

इस बार राजपथ पर 23 झांकियां नज़र आएंगी। इन झाकियों में 17 झाकियां राज्य की तो वहीं 6 यूनियन मिनिस्ट्रीज की होंगी। यूनियन टेरिटरीज में से लक्षद्वीप 23 साल बाद इस परेड में शामिल होने जा रहा है...

26 जनवरी पर शामिल होंगी 23 झांकियां, 23 साल बाद लक्षद्वीप भी लेगा हिस्सा



इस बार राजपथ पर 23 झांकियां नज़र आएंगी। इन झाकियों में 17 झाकियां राज्य की तो वहीं 6 यूनियन मिनिस्ट्रीज की होंगी। यूनियन टेरिटरीज में से लक्षद्वीप 23 साल बाद इस परेड में शामिल होने जा रहा है। जम्मू-कश्मीर में बीते साल आतंकी बुरहान वानी के एनकाउंटर के बाद हुए हिंसा और प्रदर्शन की वजह से यहां टूरिस्ट की तादाद काफी कम हो गई है।

बता दें कि अब यहां विंटर स्पोर्ट्स शुरू होने वाले हैं। ऐसे में, यहां की झांकी में टूरिस्ट को अट्रैक्ट करने की कोशिश की गई है। इस बार इसमें गुलमर्ग की बर्फीली वादियां नजर आएंगी। 22 साल के बारामूला के सिंगर इशफाक अहमद भी इसमें अपनी परफार्मेंस देते नजर आएंगे।महाराष्ट्र इस बार फ्रीडम फाइटर लोकमान्य बालगंगाधर तिलक की 160th एनिवर्सरी मना रहा है। ऐसे में, यहां की झांकी में तिलक की कहानियों को शामिल किया गया है। इनमें बताया जाएगा कि कैसे उन्होंने केसरी अखबार शुरू किया, कैसे उन्होंने गणेश उत्सव की शुरुआत की और फिर कैसे मांडला जेल गए।

हरियाणा में बेटी बचाओ, गुजरात में कच्छ के कल्चर की थी

बता दें कि हरियाणा की झांकी बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ थीम पर होगी। इसमें कल्पना चावला, ओलिंपिक मेडलिस्ट साक्षी मलिक और पैरालिंपिक चैम्पियन दीपा मलिक के अचीवमेंट्स के बारे में बताया जाएगा। गुजरात की झांकी में कच्छ के आर्ट और लाइफस्टाइल पर फोकस किया गया है। ओडिशा की झांकी में डोल जात्रा और वेस्ट बंगाल की झांकी में शरद उत्सव और कामाख्या मंदिर को बताया गया है। अरुणाचल प्रदेश, कर्नाटक, पंजाब, त्रिपुरा और तमिलनाडु की झांकियों में वहां के ट्रेडिशनल डांस की झलक दिखाई जाएगी।
23 साल बाद लक्षद्वीप भी होगा शामिल

गौरतलब है कि यूनियन टेरिटरीज में से लक्षद्वीप 23 साल बाद अपनी झांकी को परेड में जगह दिलाने में कामयाब रहा है। इसमें 36 आइलैंड्स के साथ अनएक्सप्लोर्ड टूरिस्ट डेस्टिनेशन्स के बारे में बताया गया है। दूसरी तरफ राजस्थान, बिहार, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश इस साल परेड में अपनी झांकी शामिल कराने में नाकाम रहे हैं।

पहली बार होगी NHB की झांकी

साथ ही नेशनल हाउसिंग बैंक (NHB) की झांकी इस परेड में पहली बार शामिल की गई है। स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज की झांकी खादी इंडिया में ट्रेडिशनल वीवर्स पर फोकस किया है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ एक्साइज एंड कस्टम्स की झांकी में GST के बारे में बताया जाएगा। GST को आजादी के बाद सबसे बड़ा टैक्स रिफॉर्म बताया गया है।

ऐसे होता है झांकियों का चुनाव

वहीं स्टेट इन्फाॅर्मेशन एंड पब्लिक रिलेशन डिपार्टमेंट हर साल केंद्र की कमेटी को एक प्रपोजल भेजता है। कमेटी की तीन राउंड की रिव्यू मीटिंग होती है। इसके बाद ही किसी झांकी को परेड में शामिल होने के लिए सिलेक्ट किया जाता है। यह सिलेक्शन कमेटी डिफेंस मिनिस्ट्री के अंडर काम करती है।