क्रिकेट की बॉल भी है जान लेवा बैन कर देनी चाहिए, जल्लीकट्टू पर भड़के सद्गुरु जग्‍गी वासुदेव

तमिलनाडु में जल्लीकट्टू को लेकर हालात दिन पर दिन गंभीर होते जा रहे हैं। राज्य में हर जगह जल्लीकट्टू को लेकर प्रदर्शन किए जा रहे हैं साथ ही राज्य की नामचीन शख्सियतों ने इस त्‍योहार के समर्थन में आवाज उठाई है...

क्रिकेट की बॉल भी है जान लेवा बैन कर देनी चाहिए, जल्लीकट्टू पर भड़के सद्गुरु जग्‍गी वासुदेव

तमिलनाडु में जल्लीकट्टू  को लेकर हालात दिन पर दिन गंभीर होते जा रहे हैं। राज्य में हर जगह जल्लीकट्टू को लेकर प्रदर्शन किए जा रहे हैं साथ ही राज्य की नामचीन शख्सियतों ने इस त्‍योहार के समर्थन में आवाज उठाई है। तमिलनाडु के सीएम ओ पन्‍नीरसेल्‍वम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिले और उन्‍हें हालात से अवगत कराया। उन्‍होंने कहा कि ‘मैंने पीएम को पत्र दिया है जिसमें मैंने कहा है कि जल्‍लीकट्टू पर लगा प्रतिबंध हटना चाहिए और केंद्र को इस पर अध्‍यादेश लाना चाहिए।

बता दें कि पीएमके सांसद अंबुमणि रामदौस 7, लोक कल्‍याण मार्ग स्थित प्रधानमंत्री आवास के बाहर जल्‍लीकट्टू के समर्थन में धरने पर बैठ गए। हालांकि पुलिस ने उन्‍हें हिरासत में ले लिया। कोलीवुड अभिनेता विशाल ने इस मुद्दे पर कहा कि ‘यह कोई विरोध नहीं है, यह क्रांति है। आवाज केंद्र तक पहुंचनी चाहिए और उन्‍हें अध्‍यादेश लाना चाहिए।”

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने एनिमल राइट्स एक्टिविस्‍ट्स की याचिका पर 2014 में जल्‍लीकट्टू पर प्रतिबंध लगा दिया था। जल्‍लीकट्टू, पोंगल के दौरान मनाया जाने वाला त्‍योहार है। पिछले दो साल से जल्‍लीकट्टू का आयोजन नहीं हुआ था और इस साल भी तमिलनाडु द्वारा केंद्र से बार-बार अध्‍यादेश जारी करने की अपील के बावजूद इस साल भी इसका आयोजन नहीं किया जा सका।