मनोहर पर्रिकर की हो सकती है गोवा वापसी !

गोवा चुनाव को लेकर बीजेपी की तैयारियां जोर-शोर से चल रही है। इसी बीच गोवा बीजेपी चीफ ने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के गोवा वापसी के संकेत दिए हैं।

मनोहर पर्रिकर की हो सकती है गोवा वापसी !

गोवा चुनाव को लेकर बीजेपी की तैयारियां जोर-शोर से चल रही है। इसी बीच गोवा बीजेपी चीफ ने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के गोवा वापसी के संकेत दिए हैं।

बीजेपी के प्रदेश प्रमुख विनय तेंदुलकर ने गोवा की अगली सरकार के मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व में काम करने के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बयान के एक दिन बाद दावा किया कि लोग चाहते हैं कि रक्षा मंत्री को वापस गोवा लाया जाये।

तेंदुलकर ने कहा कि आरएसएस चुनाव के लिए भाजपा के साथ है। 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा के लिए चार फरवरी को मतदान होगा।

तेंदुलकर का मानना है कि पर्रिकर का जनता से अच्छा संपर्क है इसलिए लोग यह मांग कर रहे हैं कि उन्हें वापस गोवा लाया जाना चाहिए। लेकिन चुनाव के बाद निर्वाचित विधायक इसका निर्णय लेंगे। हालांकि उन्होंने इस संबंध में पार्टी की रणनीति के बारे में बताने से इनकार कर दिया।

उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पार्सेकर ने स्पष्ट कर दिया है कि विधायक अपने नेता का चुनाव करेंगे। चुनाव के बाद इस पर फैसला लिया जाएगा।

पर्रिकर पर बीजेपी चीफ अमित शाह शाह के सोमवार  के बयान के बारे में तेंदुलकर ने कहा, पार्टी अध्यक्ष ने कहा है कि अगर उन्हें मुख्यमंत्री नहीं बनाया गया तो भी वह गोवा के मामलों को नियंत्रित करते रहेंगे।
वहीं तेंदुलकर ने बताया कि बीजेपी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जनसभा से एक दिन पहले 27 जनवरी को गोवा के लिए अपना चुनाव घोषणापत्र जारी करेगी।

अमित शाह ये कहा था

सोमवार को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने गोवा में दो रैलियां की थी और कहा था कि चुनावों के बाद यह तय करेंगे कि मनोहर पर्रिकर कहां काम करेंगे।

अमित शाह ने कहा था कि गोवा के लोग यह दिमाग में रखकर वोट दें कि सरकार मनोहर पर्रिकर के मार्गदर्शन में ही काम करेगी। अमित शाह के इस बयान से संभावनाएं बढ़ गई है कि चुनाव के बाद रक्षा मंत्री केंद्र से वापस गोवा भेजे जा सकते हैं। पार्टी से गोवा के लिए मुख्यमंत्री का चेहरा तय नहीं किया है।

नितिन गडकरी ने ऐसे बोला था
गोवा बीजेपी की जिम्मेदारी संभाल रहे नितिन गडकरी ने कहा है कि अगर गोवा में भाजपा की सरकार फिर से बनती है तो मनोहर पर्रिकर मुख्यमंत्री बनाए जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि ये पूरी तरह उनकी इच्छा पर निर्भर होगा। अगर वो चाहेंगे तो ऐसा होगा, हलांकि पर्रिकर ने अभी तक गोवा लौटने की इच्छा नहीं जताई है। उन्होंने इशारों-इशारों में ये साफ कर दिया था कि गोवा के मुख्यमंत्री का चयन वहां के विधायक ही करेंगे, लेकिन यह कोई जरूरी नहीं कि वह नेता खुद भी एमएलए हो, हम केंद्र से भी किसी को भेज सकते