नाबालिग नरभक्षी ने मासूम की हत्या कर खाया मांस

लुधियाना में 16 साल के एक नरभक्षी ने 9 साल के मासूम बच्चे की हत्या कर उसके शव के 6 टुकड़े कर खा गया और उसकी खून भी पी गया।

नाबालिग नरभक्षी ने मासूम की हत्या कर खाया मांस

पंजाब के लुधियाना में एक नरभक्षी नाबालिग का मामला प्रकाश में आया है। 16 साल के किशोर ने 9 साल के एक मासूम बच्चे की हत्या कर दी। उसके बाद उसके शव के 6 टुकड़े कर खा गया और उसकी खून भी पी गया।

सोमवार को लापता हुए दीपू कुमार का शव अगले मंगलवार को शहर के डुगरी इलाके में पाया गया था। हत्यारे ने दीपू की हत्या कर उसका सिर काटकर पास के खाली प्लॉट में फेंक दिया था। आरोपी और पीड़ित दोनों ही प्रवासी मजूदरों के बच्चे हैं और एक ही गली में रहते थे।

पुलिस के मुताबिक, 9 साल के बच्चे की हत्या करने के बाद 8वीं में पढ़ने वाला नाबालिग आरोपी घर लौट आया और सामान्य व्यवहार कर रहा था, जैसे कुछ हुआ ही न हो। यहां तक उसने अपने पिता के लिए खाना भी बनाया। उस वक्त उसकी मां बड़े बेटे के साथ चंडीगढ़ में थी।

मामले में पुलिस का कहना है कि इलाके की सीसीटीवी फुटेज खंगालने पर मामले का खुलासा हो सका। कैमरे में आरोपी को दीपू के साथ देखा गया था। इसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया, जिसे पूछताछ में हत्या करने और मांस खाने की बात कबूल कर ली।

डेप्युटी कमिश्नर भूपिंदर सिंह ने कहा कि यह मामला नरभक्षण का है। आरोपी किशोर इंसान का मांस खाना चाहता था। उसने हमें बताया कि वह कच्चा मांस खाना चाहता था। कई बार इसी तलब में वह अपने अंगों की ही चबा चुका था।

अधिकारियों ने आरोपी किशोर को मेडिकल और मानसिक परीक्षण के लिए भेजा है। आरोपी ने पुलिस को बताया कि सोमवार को दोपहर 1.40 बजे वह दीपू को पतंग के लिए मांझा देने के बहाने घर से लेकर आया था। उस समय दीपू के माता-पिता काम पर गए हुए थे।

आरोपी ने मासूम की हत्या करने के बाद धारदार हथियार से उसके अंगों के टुकड़े कर डाले। इसके बाद उसने शरीर के अंगों को थैले में भरा और साइकिल में लेकर फेंकने चला गया। मासूम के शरीर से दिल निकालकर उसने स्कूल के कैंपस में फेंक दिया था। आरोपी ने बताया कि वह अपने टीचर्स से नफरत करता था और उन्हें बदनाम करना चाहता था। पुलिस ने एक वॉटर टैंक से मासूम का दिल बरामद कर लिया है।