मेघालय सेक्स रैकेट: गृह मंत्री के बेटे का गेस्ट हाउस है जिस्मफरोशी का अड्डा!

मेघालय सेक्स रैकेट मामले में पुलिस को शक- 'गृह मंत्री के बेटे का गेस्ट हाउस जिस्मफरोशी का अड्डा'

मेघालय सेक्स रैकेट: गृह मंत्री के बेटे का गेस्ट हाउस है जिस्मफरोशी का अड्डा!

मेघालय के गृहमंत्री एचडीआर लिंगहोह के परिवार द्वारा चलाए जा रहे एक गेस्ट हाउस मर्विलिन इन की पुलिस जांच कर रही है। अधिकारियों को शक है कि यहां एक सेक्स रैकेट चलाया जा रहा है, जिसमें कई प्रभावी लोग शामिल हो सकते हैं।

इस गेस्ट हाउस को लिंगदोह का बेटा चलाता है। तीन हफ्ते की तलाशी के बाद जनवरी 6 को निर्दलीय विधायक किटबोक डोरफांग को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। 16 दिसंबर को एक नाबालिग द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर में कहा गया कि उसे शिलॉन्ग स्थित रिलबॉन्ग पॉश कॉलोनी के एक गेस्ट हाउस में ले जाया जाता था जहां उसे कई कस्टमर्स को खुश करना पड़ता था।

लड़की ने आरोप लगाया हैं कि डोरफांग ने दो बार उसके साथ दुष्कर्म किया। एक बार शहर के मोतीनगर इलाके के एक गेस्ट हाउस में और दूसरा यहां से 12 किमी दूर उमियाम में उसके साथ दुष्कर्म किया गया। मर्विलन इन नाथिनल अॉसबर्ट रमबाई का है, जो लिंगदोह का बेटा है।

शिलॉन्ग के एसपी विवेक सैम का कहना है कि हमने 9 लोगों को गिरफ्तार किया है और फिलहाल दो फरार हैं। गिरफ्तार हुए लोगों में एक गेस्ट हाउस का कर्मचारी भी शामिल है और हम यह पता लगा रहे हैं कि क्या गेस्ट हाउस का मालिक और मैनेजमेंट भी इसमें शामिल हैं या नहीं।

बाल अधिकार संरक्षण के मेघालय राज्य आयोग ने इस मामले में सिलसिलेवार शिकायतें दर्ज कराए हैं। आयोग की अध्यक्ष मीना खारखोंगगोर ने बताया कि जांच में कई अहम लोगों के नाम सामने आ सकते हैं और कई और लड़कियां इस सेक्स रैकेट की पीड़ित हो सकती हैं।

वहीं, गेस्ट हाउस मर्विलिन इन के मालिक रमबाई ने एेसे किसी सेक्स रैकेट की जानकारी होने से इनकार किया है। 4 दिनों पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा था, मेरे मैनेजर में बताया था कि पुलिस ने एक वेटर को पकड़ा है जो कथित तौर पर लड़की को यहां लाया था। वहीं उस वेटर के अलावा बाकी वेटर्स को उस लड़की के कमरे में होने की कोई जानकारी नहीं थी। हालांकि इस कॉन्फ्रेंस के बाद से उनका कोई कॉमेंट नहीं आया है। एक पुलिस अफसर ने बताया कि लड़की को गेस्ट हाउस ममोनी प्रवीन नाम की औरत और उसके पति लेकर आए थे।