सांसद आदित्यनाथ के संगठन ने किया बीजेपी के साथ बगावत का ऐलान

सांसद आदित्यनाथ के संरक्षकत्व वाली हिंदू युवा वाहिनी ने बगावत कर विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी उतारने का एलान कर दिया है। यही नहीं, छह प्रत्याशियों की घोषणा भी कर दी गई है।

सांसद आदित्यनाथ के संगठन ने किया बीजेपी के साथ बगावत का ऐलान

बीजेपी सांसद महंत आदित्यनाथ के संगठन हिन्दू युवा वाहिनी ने पूर्वांचल में बगावत का झंडा बुलंद कर दिया है। संगठन ने बीजेपी पर आदित्यनाथ की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए पूर्वांचल की सभी सीटों पर बीजेपी के खिलाफ युवा वाहिनी के चुनाव में उतरने का एलान किया है।

कहा जाता है कि संगठन हिन्दू युवा वाहिनी के लोग बीजेपी के प्रति नहीं बल्कि योगी आदित्यनाथ के प्रति अपना समर्थन जताते हैं। यह संगठन पूर्वांचल में काफी सक्रिय है, इसी वजह से इस क्षेत्र में योगी आदित्यनाथ का दबदबा भी बना हुआ है।

खबरें हैं कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में संगठन के उम्मीदवारों को टिकट न मिलने से नाराज़ है। कहा यह भी जा रहा है कि संगठन आने वाले विधानसभा चुनावों में योगी आदित्यनाथ को बीजेपी की तरफ से मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करने की मांग पर अड़ा हुआ है।

महंत आदित्यनाथ ने हिंदू युवा वाहिनी का गठन 2002 में एक धार्मिक और सांस्कृतिक संगठन के रूप में किया था। तब से यह संगठन हिंदुत्व के मुद्दे पर लगातार संघर्ष करता रहा है। इससे जुड़े कई लोग भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़कर विधानसभा में भी पहुंच चुके हैं। रामकोला से विधायक रहे अतुल सिंह और हाटा से विधायक रहे शंभू चौधरी तो हिंदू युवा वाहिनी के पदाधिकारी भी रहे। तुलसीपुर से विधायक रहे कौशलेंद्र महराज भी विश्व हिंदू महासंघ व हिंदू युवा वाहिनी से जुड़े रहे। इस चुनाव में भी राघवेंद्र प्रताप सिंह, राकेश बघेल और श्यामधनी राही भाजपा के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं।

हिंदू युवा वाहिनी के तमाम नेता भाजपा से टिकट की उम्मीद लगाए थे पर निराशा हाथ लगने पर शुक्रवार को प्रदेश अध्यक्ष सुनील सिंह ने बैठक कर चुनाव लड़ने का एलान कर दिया। बैठक के बाद उन्होंने छह प्रत्याशियों की घोषणा कर दी। इनमें पनियरा से सतीश सिंह सैथवार, सिसवां से ज्योतिष मणि त्रिपाठी, पड़रौना से राजन जायसवाल, खड्डा से अजय गोविंद राव, कसया से राजेश्वर सिंह, फरेंदा से जीतेंद्र शर्मा को उन्होंने प्रत्याशी बनाया है।