केशव प्रसाद मौर्य का नया 'SCAM', चाहते हैं मुक्ति

बीजेपी के यूपी चीफ केशव प्रसाद मौर्य का एक स्कैम सामने आया है, जिसे खुद उन्होंने ही अपने ट्विटर अकाउंट पर जाहिर किया है।

केशव प्रसाद मौर्य का नया

बीजेपी के यूपी चीफ केशव प्रसाद मौर्य का एक स्कैम सामने आया है, जिसे खुद उन्होंने ही अपने ट्विटर अकाउंट पर जाहिर किया है. लेकिन ये स्कैम उन्हें परेशानी में डालने वाला नहीं है बल्कि यह उनके राजनैतिक विरोधियों को निशाने पर लेने के लिए बनाया गया है.

दरअसल केशव प्रसाद मौर्य ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा है कि यूपी को स्कैम से मुक्त कराना है. यहां पर उन्होंने स्कैम शब्द अपनी राजनीतिक विरोधी पार्टियों के पहले अक्षर (सपा, कांग्रेस, अजीत और मायावती) को लेकर बनाया है.

यूपी विधानसभा चुनाव की घोषणा हो चुकी है और 11 फरवरी को पहले चरण का मतदान होना है. इसलिए हर पार्टियां अपने राजनीतिक विरोधियों को निशाने पर लेने के लिए नए-नए तरीके आजम रही हैं. केशव प्रसाद मौर्य का यह नया 'स्कैम' इसी तरह की कोशिश का एक नतीजा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद टेक सेवी हैं और वे अपने राजनीतिक कार्यकर्ताओं को भी लगातार टेक सेवी तरीके अपनाने की कोशिश करते रहते हैं. पिछले दिनों इस बात को अनौपचारिक रूप से यह बताया जा रहा था कि हर विधानसभा प्रत्याशी के कम से कम बीस हजार फोलोवेर होना आवश्यक है. इसके लिए प्रत्याशियों ने अपने-अपने खेत्रों में फेसबुक पर अपने प्रशंसकों की संख्या भी बढ़ाना शुरू कर दिया.

हालांकि इस अवसर पर यह भी बताना आवश्यक है कि केशव प्रसाद मौर्य के यह ट्वीट 103 बार ही शेयर हुआ है. यानी ट्विटर पर तो मोदी के ये सिपाही फेल ही साबित हो रहे हैं. हालांकि फेसबुक पर प्रशंसकों की संख्या काफी अधिक है।