बीजेपी में शामिल होने की खबर गलत, करुंगा मानहानि का मुकदमा- नरेश अग्रवाल

समाजवादी पार्टी के नेता नरेश अग्रवाल ने कहा कि उनके बीजेपी में शामिल होने की खबर गलत है और वह इसके खिलाफ मानहानि का मुकदमा करेंगे।

बीजेपी में शामिल होने की खबर गलत, करुंगा मानहानि का मुकदमा- नरेश अग्रवाल

समाजवादी पार्टी के नेता नरेश अग्रवाल ने कहा कि उनके बीजेपी में शामिल होने की खबर गलत है और वह इसके खिलाफ मानहानि का मुकदमा करेंगे। उन्होंने कहा है कि वह कहीं नहीं जा रहे हैं और अखिलेश के साथ हैं, उनका मकसद यूपी में बीजेपी को खत्म करना है। अग्रवाल का यह बयान न्यूज एजेंसी एएनआई की उस खबर के बाद आया है जिसमें सूत्रों के हवाले से बताया गया था कि नरेश अग्रवाल बीजेपी जॉइन कर सकते हैं। इस खबर के सामने आते ही अग्रवाल का नाम ट्विटर पर ट्रेंड होने लगा और उन्हें लेकर कई तरह के कयास लगने शुरू हो गए थे।

नरेश अग्रवाल ने उनके बीजेपी में शामिल होने की खबर को साजिश करार दिया। उन्होंने कहा, 'मेरे बीजेपी में जाने की खबर सत्यता से परे है। मैं कभी बीजेपी में नहीं जा सकता। नेताजी मुलायम सिंह यादव और रामगोपाल मेरे अभिन्न मित्र हैं। यह बीजेपी की साजिश है।'

बता दें कि राज्यसभा सांसद के तौर पर वह संसद में समाजवादी पार्टी का बड़ा चेहरा माने जाते हैं। नोटबंदी पर राज्यसभा में बहस के दौरान उनके भाषण की भी काफी चर्चा हुई थी क्योंकि पीएम मोदी उनकी चुटीली बातों पर ठहाके मारकर हंसने लगे थे।

पार्टी में चली वर्चस्व की लड़ाई में अग्रवाल खुलकर अखिलेश के समर्थन में थे। इस दौरान पार्टी दफ्तर से लेकर चुनाव आयोग तक वह कई बार अखिलेश के साथ नजर आए। उनके बेटे नितिन अग्रवाल को भी एसपी ने हरदोई से अपना प्रत्याशी बनाया है। इस बीच उनके असंतुष्ट होने की खबर भी कभी सामने नहीं आई।

पिछले दिनों वह उस वक्त भी सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने कांग्रेस-एसपी गठबंधन को लेकर अहम बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन की संभावनाएं लगभग खत्म हो चुकी हैं। इसके बाद यह कयास लगाए जाने लगे थे कि गठबंधन नहीं हो पाएगा, पर रविवार शाम सीटों पर बात बनते ही गठबंधन का ऐलान हो गया।

वैसे नरेश अग्रवाल की छवि एक दल बदलू नेता की ही रही है। अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत में कांग्रेस में रहे अग्रवाल बीएसपी में भी रह चुके हैं। 2007 के चुनाव में बेटे को टिकट न दिए जाने से नाराज होकर उन्होंने एसपी छोड़, बीएसपी का दामन थाम लिया था। फिर साल 2011 में पार्टी विरोधी गतिविधियों का आरोप लगाते हुए उन्हें मायावती ने बीएसपी से निकाल दिया था। इसके बाद उन्होंने फिर एसपी जॉइन कर ली थी। पिछले दिनों एसपी से निकाले गए अमर सिंह ने भी अग्रवाल पर दल बदलू होने का तंज कसा था।