बीएमसी में किसी से गठबंधन नहीं, उद्धव बोले - अब जंग शुरू

महाराष्ट्र स्थानीय चुनाव को लेकर नहीं हुआ सेना और बीजेपी में गठबंधन, उद्धव ने कहा भविष्य में BJP से कोई गठबंधन नहीं...

बीएमसी में किसी से गठबंधन नहीं, उद्धव बोले - अब जंग शुरू

बीएमसी चुनाव से पहले बीजेपी को बड़ा झटका लगा है. आज शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने ऐलान किया है पार्टी बीएमसी चुनाव में किसी के साथ गठबंधन नहीं करेगी. आपको बता दें सीटों को लेकर शिवसेना और बीजेपी में लंबे समय से पेंच फंसा था.

उद्धव ठाकरे के बयान के जवाब में महाराष्ट्र सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा, ”सत्ता हमारा लक्ष्य नहीं, विकास का साधन है. पारदर्शी कामकाज ही हमारा मूलमंत्र है. जो आएंगे उनके साथ, जो नहीं आएंगे उनके बिना ही परिवर्तन तो होगा.”

बीएमसी पर कब्जा होने का मतलब है देश की आर्थिक राजधानी पर कब्जा होना. बीएमसी का बजट करीब 37 हजार करोड़ है. इतना बजट तो देश के पंद्रवें बड़े राज्य अरुणाचल प्रदेश का भी नहीं है. मणिपुर का बजट 10500 करोड़ रुपये है जबकि अरुणाचल प्रदेश का बजट 12500 करोड़ रुपये है. मिजोरम का बजट करीब 8000 करोड़ रुपये और सिक्कम का 5800 करोड़ रुपये है. नार्थ ईस्ट के इन चारों राज्यों को भी मिला दें तो मुंबई की बीएमसी का बजट इनसे ज्यादा है.

कांग्रेस के लिए ये चुनाव नाक बचाने की तरह है. लोकसभा में हार, विधानसभा में हार के सिलसिले को कांग्रेस 20 साल बाद बीएमसी में जीत से खत्म करना चाहेगी. परीक्षा राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की भी है. इस समय बीएमसी मे शिवसेना-बीजेपी गठबंधन सरकार है. बीएमसी में कुल 227 कॉर्पोरेटर हैं.