कर्णी सेना के बाद 'विहिप' ने किया पद्मावती की शूटिंग का विरोध

राजस्थान में संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती के सेट पर कर्णी सेना द्वारा हुए हमले के बाद जहां बॉलीवुड में गुस्सा है वहीं दूसरी तरफ विश्व हिंदू परिषद् (विहिप) मुद्दे पर गंभीर होता नज़र आ रहा है...

कर्णी सेना के बाद

राजस्थान में संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती के सेट पर कर्णी सेना द्वारा हुए हमले के बाद जहां बॉलीवुड में गुस्सा है वहीं दूसरी तरफ विश्व हिंदू परिषद् (विहिप) मुद्दे पर गंभीर होता नज़र आ रहा है। चित्तौड़ की रानी पद्मावती पर भंसाली 'पद्मावती' नाम से ही एक फिल्म बना रहे हैं। फिल्म में राजपूत वीर रानी पद्मावती के चरित्र को कथित तौर पर गलत तरीके से दिखाए जाने की कोशिश को विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने गंभीरता से लिया है। विहिप ने चेतावनी दी है कि अगर इस फिल्म में ऐसा कुछ हुआ तो इसके बहुत ही गंभीर परिणाम भूगतने पड़ सकते हैं।

बता दें कि हिंदु परिषद् की महिला शाखा मातृशक्ति की प्रमुख मीनाक्षी ताई पेशवे और दुर्गा वाहिनी की राष्ट्रीय संयोजिका माला रावल ने एक जूट होकर अपने बयान में कहा कि इतिहास के नाम पर धंधा करने वाले कुछ विदेशी और वामपंथी और कथित इतिहासकारों के कुकृत्यों की आड़ में राजस्थान की गौरवशाली राजपूत परंपरा का अपमान कभी भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पद्मानती को अमर वीरांगना बताते हुए उन्होंने कहा कि खिलजी से अपने शील की रक्षा  उन्होंने खुद को को चिता में झोंक दिया ता लेकिन उस दुष्ट के हाथ न आ सकीं। चंद पैसों के लालच और ओछे प्रचार की चाह में ऐसी महान महिला को बड़े ही घटिया तरीके से अलाउद्दीन की प्रेमिका बताया जाना न सिर्फ भारतीय इतिहास के साथ दुष्कर्म होगा, बल्कि हर भारतीय नारी के सम्मान को भी ठेस पहुंचेगा।

धौलपूर में राजपूतों द्वारा फूंका गया भंसाली का पुतला

रानी पद्मावती के विरोध में राजस्थान के धौलपुर में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा की इकाई ने भी विरोध प्रदर्शन करते हुए फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली का पुतला फूंका। संगठन के जिलाध्यक्ष सोनू परमार के नेतृत्व में धौलपुर के राजपूत युवाओं ने भंसाली का हाईवे पर पुतला फूंका और नारेबाजी की। परमार ने कहा भंसाली की फिल्म में रानी पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी से जुड़े ऐतिहासिक तथ्यों तोड़ मरोड़कर पेश किया जा रहा है।

साथ ही उन्होंने कहा कि पद्मावती हिंदुओं के लिए आदर्श थीं और उन्होंने प्रजा की रक्षा और आन-बान-शान के लिए जौहर किया था। वहीं सरकार से मांग की है कि भंसाली के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाए, नहीं तो आंदोलन को और व्यापक किया जाएगा। इधर, हरियाणा के पलवल में जिला युवा राजपुताना संगठन ने भी फिल्म निर्माता-निर्देशक संजय लीला भंसाली का पुतला फूंककर विरोध किया।