कुत्ते की मौत का सदमा बर्दाश्‍त न कर सका युवक, कर ली आत्महत्या

काेई कल्पना भी नहीं कर सकता है कि किसी के आत्महत्या का कारण उसका पालतू जानवर भी बन सकता है। पर कल्पना से परे छत्तीसगढ़ निवासी 22 वर्षीय मैनेजमेंट छात्र अपने पालतू कुत्ते की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर सका और आत्महत्या कर ली।

कुत्ते की मौत का सदमा बर्दाश्‍त न कर सका युवक, कर ली आत्महत्या

काेई कल्पना भी नहीं कर सकता है कि किसी के आत्महत्या का कारण उसका पालतू जानवर भी बन सकता है। पर कल्पना से परे छत्तीसगढ़ निवासी 22 वर्षीय मैनेजमेंट छात्र अपने पालतू कुत्ते की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर सका और आत्महत्या कर ली।

बताया जा रहा है कि छात्र कंवर हर्षवर्धन राघव अपने पालतू कुत्ते की मौत से दुखी होकर डिप्रेशन में चला गया और बीते सोमवार रात 8.30 बजे छठे माले से छलांग लगा दी। हादाप्सर के रक्षानगर क्षेत्र स्थित ठक्कर एनक्लेव में राघव अपने रिश्तेदार के घर आया हुआ था। हादसे के तुरंत बाद उसे अस्पताल ले जाया गया जहां उसे डॉक्टरों ने मृत करार दिया।

मीडिया रिपाेर्ट के मुताबिक आर्मी ऑफिसर के परिवार के राघव के फ्लैट से डायरी में रखा सुसाइट नोट बरामद हुआ जिसमें उसने अपने पालतू कुत्ते सिस्का की मौत पर गहरा दुख व्यक्त किया है। पिछले कुछ सालों से राघव पुणे में रह रहा था और सिंबायोसिस ग्रुप ऑफ कॉलेज में फर्स्ट इयर का छात्र था।

सीनियर इंस्पेक्टर विष्णु पवार ने मीडिया काे बताया कि उसके सुसाइड नोट में राघव ने अपने माता पिता से अपने इस कदम के लिए माफी मांगी है और कहा है कि उसकी मौत के पीछे कोई जिम्मेवार नहीं है। उसने लिखा है कि करीब आठ माह पहले अपने पालतू कुत्ते की मौत हो जाने से वह काफी दुखी है और बर्दाश्त नहीं कर पा रहा है इसलिए उसने आत्महत्या का फैसला ले लिया है। बीते मंगलवार को अंतिम संस्कार के लिए राघव का शव उसके परिजनों को सौंप दिया गया।