सिंधु जल संधि विवाद सुलझाने में यूएस की मदद लेगा पाकिस्तान

सिंधु जल संधि विवाद सुलझाने में यूएस की मदद लेगा पाकिस्तान, बिना निमंत्रण बीच में कूदा अमेरिका...

सिंधु जल संधि विवाद सुलझाने में यूएस की मदद लेगा पाकिस्तान

यूएस के प्रशासनिक विभाग ने भारत और पाकिस्तान के बीच चल रहे सिंधु जल संधि विवाद को सुलझाने की पहल की है। इसके लिए अमेरिका बिना किसी औपचारिक निमंत्रण मिले ही मुद्दे में बोलने की तैयारी कर ली है। यह बात पाकिस्तान के प्रमुख अखबार डॉन में छपी है।

बता दें, वॉशिंगटन के कुछ अधिकारियों का बयान भी छापा गया है। खबर के मुताबिक, पिछले शुक्रवार को यूएस के सचिव जॉन कैरी ने पाकिस्तान के वित्त मंत्री इसहाक डार को फोन किया था। फोन पर कैरी ने डार से कहा था कि यूएस मामले को सुलझाना चाहता है। कैरी ने डार को बताया उन्होंने वर्ल्ड बैंक के अध्यक्ष को भी पाकिस्तान की शिकायतों की जानकारी दे दी है। डार के बयान के मुताबिक, पाकिस्तान ने यूएस के सुलह प्रस्ताव का सम्मान किया था।

इससे पहले खबर आई थी कि विश्व बैंक के अध्यक्ष जिम योंग किम ने पाकिस्तान के वित्त मंत्री सीनेटर इसहाक डार के साथ फोन पर बातचीत के दौरान भारत-पाक जल विवाद पर चर्चा की थी। इससे कुछ ही दिन पहले पाकिस्तान ने विश्व बैंक से इस मुद्दे पर ‘उसकी जिम्मेदारियां निभाने’ के लिए कहा था। डार ने दो पनबिजली संयंत्रों -किशनगंगा और रटले- को लेकर चल रहे विवाद के संदर्भ में 23 दिसंबर को किम को एक पत्र लिखा था। डार ने अपने पत्र में लिखा कि मध्यस्थता में देरी से सिंधु जल संधि के तहत पाकिस्तान के हितों और अधिकारों पर गंभीर असर पड़ेगा।