आज गोवा की पहचान पिग्स, पैग और प्रोस्टीट्यूशन से है: सुभाष वेलिंगकर

RSS बागी सुभाष वेलिंगकर ने कहा कि बाहर के लोग अब गोवा को सुअर, शराब और देह व्यापार की वजह से जानने लगे हैं।

आज गोवा की पहचान पिग्स, पैग और प्रोस्टीट्यूशन से है: सुभाष वेलिंगकर

गोवा में आरएसएस प्रमुख रहे सुभाष वेलिंगकर ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से बगावत कर बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सुभाष ने एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि उनका संगठन 'गोवा सुरक्षा मंच' राज्य में बीजेपी के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरेगा। सुभाष ने इसके लिए महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी और शिव सेना से गठबंधन करने का भी फैसला किया है। वेलिंगकर ने कहा कि बीजेपी व मनोहर पर्रिकर ने गोवा और उसकी संस्कृति को धोखा दिया है, अब वो इसकी छवि बदलना चाहते हैं।

बीजेपी को 'राक्षस' बताते हुए सुभाष वेलिंगकर ने कहा कि बीजेपी ने राज्य की संस्कृति का विनाश किया है। हमारी मातृभाषा कोंकणी को खत्म कर दिया। सुभाष यहीं नहीं रुकें उन्होंने आगे कहा कि जब राज्य में पर्रिकर विपक्ष में थे तब वो कांग्रेस पर राज्य की भाषा को खत्म करने का आरोप लगाते थे लेकिन सत्ता में आने के बाद उन्होंने भी वही किया जो कांग्रेस कर रही थी। हमें बीजेपी से उम्मीदें थीं लेकिन उन्होंने राज्य की जनता के साथ धोखा किया है।

बाहर के लोग अब गोवा को सुअर, शराब और देह व्यापार की वजह से जानने लगे हैं। उन्होंने कहा कि गोवा का संस्कृति पुर्तगाली संस्कृति नहीं है। लेकिन बीजेपी और कांग्रेस हमेशा से इसे अंग्रेजी सभ्यता से मिला हुआ बताते आए हैं। राज्य की बड़ी आबादी ईसाई हैं, हम सिर्फ हिन्दू संस्कृति की बात नहीं करते बल्कि राज्य की बड़ी ईसाई आबादी भी यही सोचती है कि यहां के राजनीतिक दलों ने संस्कृति को नुकसान पहुंचाया है।

सुभाष वेलिंगकर ने आगे कहा कि अगर हमारी पार्टी सत्ता में आती है तो गोवा पर लगे काले धब्बे को हटाना हमारा मुख्य मकसद होगा। यहां के बीच और कैसिनो यहां की संस्कृति नहीं है। यहां पर्यटन हो लेकिन मर्यादित और अच्छा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं आज भी आरएसएस का कार्यकर्ता हूं। हमारे नेताओं ने हमें संस्कृति की रक्षा करना सिखाया है। चुनाव खत्म होने के बाद मैं दोबारा आरएसएस का सखा हो जाऊंगा।