पंजाब की लांबी सीट पर त्रिकोणीय संघर्ष!

अमरिंदर ने कहा कि अकाली नेता को हराने के लिए वह लांबी विधानसभा क्षेत्र से मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के खिलाफ चुनाव लड़ना चाहते हैं।

पंजाब की लांबी सीट पर त्रिकोणीय संघर्ष!

पंजाब की राजनीति में चुनावी संघर्ष और भी रोचक होता जा रहा है। सबसे ज्यादा चर्चा लांबी सीट को लेकर है। लांबी सीट पर संघर्ष त्रिकोणीय हो गया है। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अमरिंदर सिंह के अलावा प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और आम आदमी पार्टी के जनरैल सिंह एक दूसरे के खिलाफ ताल ठोंक रहे हैं।

अमरिंदर ने कहा कि अकाली नेता को हराने के लिए वह लांबी विधानसभा क्षेत्र से मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के खिलाफ चुनाव लड़ना चाहते हैं। अमरिंदर ने बादल पर पंजाब को बर्बाद करने का आरोप लगाया। हालांकि कांग्रेस पहले ही पटियाला शहर से उनके नाम की घोषणा कर चुकी है।

अमरिंदर सिंह ने कहा कि उन्होंने लांबी विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने की अनुमति के लिए कांग्रेस हाईकमान से आग्रह किया है, ताकि वह बादल के भ्रष्ट और विनाशकारी शासन से पंजाब को मुक्त करा सकें।

अमरिंदर ने कहा कि अगर हाईकमान ने मंजूरी दी तो वह लांबी और पटियाला दोनों विधानसभा क्षेत्रों से चुनाव लड़ेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, 'पूरे राज्य का खस्ताहाल है। बादल और उनके परिवार व सहयोगियों ने पंजाब को एक शर्मनाक स्थिति में ला दिया है।'

अमरिंदर ने आगे कि मेरी सरकार अकाली दल के सभी घोटालों की जांच कराएगी और किसी भी आपराधिक कृत्य, खासतौर पर मादक पदार्थो की तस्करी में दोषी पाए जाने वाले प्रत्येक व्यक्ति को दंडित करेगी।' पंजाब में साल 2007 से अकाली-बीजेपी गठबंधन की सरकार है।

(फोटो सभार- गूगल)