आरक्षण खत्म किया गया तो BJP राजनीति भूल जाएगी: मायावती

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने आरएसएस के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य के आरक्षण को लेकर दिए गए बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि आरक्षण खत्म किया गया तो बीजेपी राजनीति भूल जाएगी।

आरक्षण खत्म किया गया तो BJP राजनीति भूल जाएगी: मायावती

यूपी का चुनाव भी बिहार की तर्ज पर आरक्षण के मुद्दे की तरफ बढ़ता नजर आ रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आरएसएस के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य के आरक्षण को लेकर दिए गए बयान पर पलटवार करते हुए बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कहा कि आरक्षण खत्म किया गया तो बीजेपी राजनीति भूल जाएगी। उन्होंने कहा कि बीजेपी को दिन में तारे दिखा दिए जाएंगे।

सपा राज में गुंडाराज
यूपी चुनाव के दंगल से ठीक पहले बीएसपी सुप्रीमाे मायावती ने समाजवादी पार्टी  काे अपना निशाना बनाते हुए कहा है कि अखिलेश की सरकार ने पूरे वायदे नहीं किये आैर पुत्र मोह में नाटक कर रहे हैं मुलायम। सपा की सरकार में यूपी में कानून व्यवस्था चौपट हाे गई है। सपा राज में गुंडाराज है। मायावती ने यूपी में बीजेपी काे लेकर भी हमला बाेला है, भाजपा के कार्यकर्ता हताश हैं क्याेंकि गरीब-पिछड़े मोदी सरकार से नाराज हैं। मायावती ने अल्पसंख्यकों से कहा है कि वे बीएसपी को वोट दे। वहीं पर दूसरी तरफ मायावती ने आराेप लगाया है कि विपक्षी पार्टीयां बीएसपी को रोकने के लिए साजिश कर रही हैं। मायावती ने अागे अपने भाषण में कहा कि कांग्रेस ने अखिलेश के आगे घुटने टेक दिए।

सपा का सत्ता में लौटना नामुमकिन
मायावती ने आगे कहा कि इस बार समाजवादी पार्टी का सत्ता में लौटना नामुमकिन है। समाजवादी पार्टी एक डूबती नैया है यूपी में कांग्रेस पूरी तरह ऑक्सीजन पर है कांग्रेस का स्वार्थी चेहरा बेनकाब हुआ है। उन्होंने कहा कि "प्रदेश की सपा सरकार में शुरू से ही अराजक, अपराधी और भ्रष्‍ट वाली हुकूमत रही है। अब तक प्रदेश में 500 छोटे-बड़े दंगे हुए हैं। केंद्र की मोदी सरकार आरक्षण खत्म करना चाहती है। अगर ऐसा हुआ तो प्रदेश की जनता आने वाले विधानसभा और लोकसभा चुनाव में सबक सिखाएगी।कांग्रेस ने पहले शीला दीक्षित को सीएम कैंडिडेट के रूप में पेश किया, लेकिन सपा से गठबंधन करने के लिए अखिलेश यादव जो एक दागी चेहरा है, उस पर हामी भर दी।

जनता सिखाएगी सबक

मायावती ने कहा कि 5 साल से त्रस्‍त प्रदेश की जनता को सपा को वोट नहीं देना चाहिए। सपा के पूर्व प्रमुख मुलायम सिंह के चलते शिवपाल यादव बलि का बकरा बन गए। शिवपाल को जनता की नजरों में पूरी तरह से गिराने की कोशिश की गई है। जनता अखिलेश खेमे को सबक सिखाएगी। इनका बेस वोट भी दो खेमों में बंटकर रह जाएगा। "सपा को जो वोट देता है, उसका वोट खराब होगा और इसका फायदा बीजेपी को पहुंचेगा। बीजेपी को रोकने के लिए अल्‍पसंख्‍यकों को बसपा को वोट देना चाहिए। बसपा का वोट इधर-उधर जाने वाला नहीं है।