ऋषि की 'खुल्लम खुल्ला' में अमिताभ बच्चन को लेकर भी एक खुलासा

बॉलीवुड अभिनेता ऋषि कपूर ने अपनी किताब खुल्लम खुल्ला में ऐसे ऐसे खिलासे किए हैं जिनको सुनकर हर कोई हैरान है। ऐसा ही एक और चौकाने वाला खुलासा किया है ऋषि कपूर का कहना है कि महानायक अमिताभ बच्चन ने 70 के दशक की एक्शन फिल्मों का रूप ही बदल दिया था...

ऋषि की

बॉलीवुड अभिनेता ऋषि कपूर ने अपनी किताब खुल्लम खुल्ला में ऐसे ऐसे खिलासे किए हैं जिनको सुनकर हर कोई हैरान है। ऐसा ही एक और चौकाने वाला खुलासा किया है ऋषि कपूर का कहना है कि महानायक अमिताभ बच्चन ने 70 के दशक की एक्शन फिल्मों का रूप ही बदल दिया था और उनके जैसे अभिनेता बिग बी की सफलता की सीढी के ‘छोटे पायदान' थे और उनके सामने छोटे कलाकारों की गिनती में आते थे।

बता दें कि 70 और 80 के दशक को याद करते हुये 64 साल के ऋषि कपूर ने कहा कि उन दिनों बच्चन के सह कलाकार उनके पद्चिह्नों पर चलने की कोशिश करते थे। उन्होंने कहा कि अमिताभ बच्चन देश के महान कलाकार हैं। उन्होंने 70 के शुरआती दशक के पूरे चलन को बदल दिया था। ऋषि कपूर ने आगे कहा  कि ' एक्शन फिल्मों का युग उनके साथ शुरू हुआ। उस समय कई कलाकार बेरोजगार हो गये थे।' ऋषि कपूर, बिग बी के साथ ‘कभी-कभी', ‘नसीब', ‘अमर अकबर एंथनी' और ‘कूली' जैसी फिल्मों में काम कर चुके हैं।

साथ ही कपूर ने कहा कि ‘धर्मेन्द्र के बिना कोई ‘शोले', विनोद खन्ना और ऋषि कपूर के बिना ‘अमर अकबर एंथनी', शशि कपूर के बिना ‘दीवार' और शत्रुघ्न सिन्हा के बिना कोई ‘दोस्ताना' नहीं हो सकती थी मुझे लगता है कि बच्चन की महान सफलता की सीढी में हम सभी छोटे पायदान पर थे क्योंकि सभी मुख्य भूमिकाएं उन्हें मिलती थी और हमें उन फिल्मों में सह कलाकार का किरदार निभाने को मिलता था।

गौरतलब है कि ऋषि कपूर ने ‘खुल्लम खुल्ला: रिषी कपूर अनसेंसर्ड' शीर्षक से आई किताब के विमोचन के मौके पर लेखक सुहेल सेठ के साथ बातचीत में यह कहा। कपूर ने कहा वह अच्छा समय था जब वह और उनके समकालीन कलाकार एक ही फिल्म में साथ काम करते थे। उन्हें लगता है कि आज के समय में यह नामुमकिन है।

उन्होंने कहा कि वे अच्छे दिन थे, और कहां आज हमें अक्षय कुमार और सभी खान एक-दूसरे के साथ काम करते हुये मिलते हैं क्योंकि यह आर्थिक रुप से संभव नहीं है। आज के समय में आप दो बडे अभिनेताओं का खर्च वहन नहीं कर सकते। उनकी फीस काफी ज्यादा है।