यूपी चुनाव में बीजेपी को जिताने वाला RSS का सीक्रेट प्लान लीक

यूपी चुनाव में बीजेपी को जीत दिलाने के लिए बनाई गई RSS की खास रणनीति लीक हो गई है।

यूपी चुनाव में बीजेपी को जिताने वाला RSS का सीक्रेट प्लान लीक

यूपी में भगवा की आंधी चलाने की आरएसएस की खास रणनीति लीक हो गयी है। राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ ने यूपी चुनाव 2017 में बीजेपी को बहुमत दिलाने के लिए प्रत्येक बूथ पर अपनी फौज उतार दी है। संघ ने एक साथ सभी अनुसांगिक संगठनों को उतार कर साबित कर दिया है कि उसके लिए यूपी चुनाव कितना महत्वपूर्ण है। संघ की खास रणनीति सफल हो जाती है तो सपा, बसपा व कांग्रेस को झटका लगना तय है।

यूपी में सत्ता हासिल करने में लगी आरएसएस ने वर्ष 2014 में हुए संसदीय चुनाव से ही योजना बनाना शुरू किया था। खास योजना के तहत गुजरात के तत्कालीन सीएम नरेन्द्र मोदी को वाराणसी संसदीय सीट से चुनाव लड़ाया गया। संघ की योजना सफल हुई और वाराणसी संसदीय सीट सहित यूपी की 80 में से 73 सीटों पर बीजेपी ने धमाकेदार जीत दर्ज की। संसदीय चुनाव के ढाई साल से अधिक का समय बीत जाने के बाद एक बार फिर आरएसएस ने अपनी सारी ताकत झोंक दी है। आरएसएस का एक ही सपना है कि यूपी की सत्ता बीजेपी के कब्जे में आना।

जनवरी में दो चरणों में आरएसएस चलायेगी खास अभियान

आरएसएस ने जनवरी में दो चरणों में खास अभियान चलाने की तैयारी की है। पहला अभियान 9 से 19 जनवरी तक चलेगा। इस अभियान में आरएसएस के स्वंयसेवक लोगों के घरों में जायेंगे और परिवार से जुड़ी सारी जानकारी लेने के साथ पता करेंगे वह लोग किस पार्टी के पक्ष में मतदान कर सकते हैं। इसके बाद 20 जनवरी से आरएसएस अपना दूसरे चरण में संघ के लोग उन्हीं मकान में फिर जायेंगे और लोगों के बीच घुल मिल कर बीजेपी के पक्ष में मतदान करने के लिए प्रेरित करेंगे।

मतदान केन्द्र के प्रत्येक बूथ पर तैनात होंगे स्वयंसेवक

मतदान केन्द्र के प्रत्येक बूथ पर स्वंयसेवकों को तैनात किया जायेगा। इनके पास वोटर लिस्ट भी होगी। प्रत्यके बूथ पर मतदान करने आने वालों की सारी जानकरी स्वंयसेवक लेंगे। बूथ पर सुबह 9 से दोपहर 1 बजे तक स्वंयसेवक पता करेंगे कि कितने सही व कितने फर्जी मतदाताओं ने वोटिंग की है। दोपहर दो बजे के बाद वोटर लिस्ट के साथ स्वंयसेवक उन घरों में पहुंचेंगे जो लोग अभी तक मतदान नहीं किये है। ऐसे लोगों को मतदान करने के लिए प्रेरित भी किया जायेगा।

संघ ने उतारी सारे अनुसांगिक संगठनों की फौज

संघ के लोगों की प्रतिदिन इस योजना को लेकर विभिन्न जगहों पर मीटिंग हो रही है। मीटिंग में संघ के अनुसांगिक संगठन के लोग विश्व हिन्दू परिषद, बजरंग दल, एबीवीपी, किसान संघ, मजदूर संघ, सेवा भारती आदि सभी की टीमे उतार दी गयी है।

स्थानीय स्वंयसेवक होंगे बूथ पर तैनात

संघ ने इस बात पर खास ध्यान देने का निर्देश दिया है कि बूथ पर स्थानीय स्वयंसेवकों को ही तैनात किया जएगा जिससे यह वे पता कर सकें कि मतदान करने आने वाले उस क्षेत्र के हैं या नहीं।

बीजेपी को हो सकता बड़ा फायदा

संघ की मेहनत से बीजेपी को बड़ा फायदा हो सकता है। संघ की रिपोर्ट के आधार पर पता चल सकेगा कि मतदाताओं का रुझान किधर है। इसी आधार पर बीजेपी अगले चरण के चुनाव की रणनीति तय कर सकती है।