दक्षिण कोरिया में फैला बर्ड-फ्लू, अमेरिका से मांगे अंडे

दक्षिण कोरिया में बर्ड-प्लू ने एक बार फिर हमला बोल दिया है। दक्षिण कोरिया इसकी चपेट में आ गया है और पहली बार दक्षिण कोरिया ने अमेरिका से अंड़े भेजने के लिए कहा है। इससे पहले भी यहां 2015 में बर्ड-फ्लू फैलने से मुर्गियों का आयात बढ़ गया था...

दक्षिण कोरिया में फैला बर्ड-फ्लू, अमेरिका से मांगे अंडे

दक्षिण कोरिया में बर्ड-फ्लू ने एक बार फिर हमला बोल दिया है। दक्षिण कोरिया इसकी चपेट में आ गया है और पहली बार दक्षिण कोरिया ने अमेरिका से अंड़े भेजने के लिए कहा है। इससे पहले भी यहां 2015 में बर्ड-फ्लू फैलने से मुर्गियों का आयात बढ़ गया था। जो बाद में अमेरिका में बर्ड फ्लू फैलने और वहां के बाजार में अंडे की घरेलू कीमतों में 79 सेंट प्रति दर्जन तक की गिरावट के साथ खत्म हुआ था।

बता दें कि दक्षिण कोरिया ऐसे देशों में शामिल था, जिसने साल 2015 में अमेरिका में बर्ड-फ्लू फैलने के बाद वहां से अंडे का आयात पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया था। लेकिन अभी इसे पोल्ट्री उत्पादों के आयात की आवश्यकता है। बर्ड-फ्लू फैलने के बाद यहां करीब 4.9 करोड़ मुर्गे-मुर्गियों को मार दिया गया था। नवंबर में एच5एन6 वायरस फैलने के बाद यहां करीब ढाई करोड़ मुर्गियों को मारना पड़ा था।

गौरतलब है कि अमेरिका के कृषि विभाग ने अंडों के आयात की घोषणा की। अर्नर बैरी प्रोटीन मार्केट के विश्लेषक ब्रायन मोसकोगुइरी ने कहा कि आयात की घोषणा से यहां अंडों की कीमतों में गिरावट रुक गयी है। हालांकि अभी यह सौदा नहीं हुआ है, लेकिन उन्होंने कहा कि वह दक्षिण कोरिया को अंडे भेजने के लिए तीन चार मालवाहक एयरलाइंस वालों से करीब 30-40 लाख अंडे भेजने के बारे में बातचीत करने के लिए सोच रहे हैं। वैश्विक बाजार में पोल्ट्री एवं अंडा निर्यात को प्रोत्साहन देने वाले कारोबारी संगठन एवं अमेरिकी पोल्ट्री एवं अंडा निर्यात परिषद् के अध्यक्ष जिम समनर ने कहा, ‘हमने कभी भी दक्षिण कोरिया को अंडे निर्यात नहीं किये क्योंकि दोनों सरकारों के बीच अंडा निर्यात का औपचारिक प्रोटोकॉल नहीं था।