सूरत: कारोबारी किशोर भजियावाला गिरफ्तार

सूरत के कारोबारी किशोर भजियावाला को ईडी ने किया गिरफ्तार, काला धन सफेद करने के लिए 700 लोगों को लगाया था।

सूरत: कारोबारी किशोर भजियावाला गिरफ्तार

सूरत के कारोबारी किशोर भजियावाला को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गिरफ्तार किया है। भजियावाला की गिरफ्तारी शुक्रवार (20 जनवरी) को हुई। भजियावाला पर आरोप है कि नोटबंदी के बाद कालेधन को सफेद करने का काम किया था। भजियावाला के खिलाफ पहले से ही केस दर्ज हो चुका था।

दरअसल, नोटबंदी के बाद देशभर में आयकर विभाग की छापेमारी जारी है। ऐसे में सूरत से फाइनैंसर किशोर भजियावाला के पास से 10.45 करोड़ बरामद किए गए थे। आरोप था कि भजियावाला ने नकली बैंक खातों के जरिए कालेधन को ठिकाने लगाने की कोशिश की थी। भजियावाला कभी चाय बेचा करता था।

भजियावाला के पास से 400 करोड़ रुपये की संपत्ति से जुड़े कागजात भी मिले थे। सीबीआई सूत्रों के मुताबिक, किशोर ने नोटबंदी के बाद 700 लोगों को पैसा जमा करने और निकालने के काम में लगाया था।

जानकारी के अनुसार, किशोर भजियावाला के 27 बैंक में खाते थे, जिनमें 20 बेनामी थे। इन्हीं के जरिए वह मनी लॉन्ड्रिंग करता था। हालांकि अब तक यह साफ नहीं हो पाया कि वह उसने कितना पैसा जमा कराया और कितना निकाला।

आयकर विभाग ने भजियावाला के पास से 1,45,50,800 रुपये के नए नोट, 1,48,88,133 रुपये का सोना, 4,92,96,314 रुपये की गोल्ड जूलरी, 1,39,34,580 रुपये की डायमंड जूलरी और 77,81,800 रुपये की चांदी की जूलरी बरामद किए हैं। बैंकों और बड़े नेताओं के हाथ होने के शक के मद्देनजर मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी गई थी।