छत्तीसगढ़: अस्पताल प्रशासन की बड़ी लापरवाही, कमांडर के शव को चूहों ने कुतरा

बस्तर संभाग के कांकेर जिले में एक साथी आरक्षक की गोली से मारे गए प्लाटून कमांडर के परिजन ने शव को अस्पताल परिसर में चूहों द्वारा कुतरने का आरोप लगाया है।

छत्तीसगढ़: अस्पताल प्रशासन की बड़ी लापरवाही, कमांडर के शव को चूहों ने कुतरा

छत्तीसगढ के बस्तर संभाग के कांकेर जिले में चार दिन पहले एक साथी आरक्षक की गोली से मारे गए प्लाटून कमांडर के परिजन ने शव को अस्पताल परिसर में चूहों द्वारा कुतरने का आरोप लगाया है।

हुर्रापिंजोड़ी कैंप के प्लाटून कमांडर विश्वनाथ राय को 24 जनवरी की रात साथी आरक्षक समर शेखर ने गोली मार दी थी, जिससे उनकी मौत हो गई थी। मृतक की पत्नी रंजीता नाथ और पुत्र अमित व देवजीत ने अंतागढ़ अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया है।

परिजनों का आरोप है कि गोलीबारी की घटना के दौरान इलाज में देर हुई, जिससे विश्वनाथ राय की मौत हो गई। उसके बाद शव जब उन्हें सौंपा गया तो उसके पैर की उंगली को चूहों ने कुतर दिया था।

विश्वनाथ राय की पत्नी रंजीता का कहना है कि उनके पति छुट्टियों में जब भी घर आते थे, तो समर शेखर का नाम लेकर बताते थे कि वह ना तो ठीक से ड्यूटी करता है और ना ही कायदों का पालन करता है। समझाने पर झगड़ा करता है। उन्होंने इसकी शिकायत अफसरों से भी की थी। रंजीता ने आरोप लगाया कि यदि समर शेखर को उस कैंप से हटा दिया गया होता तो उनके पति की हत्या नहीं होती।