शाहरूख खान के साथ काम करने को लेकर ऋतिक रोशन ने रखी ये शर्त

फिल्म निर्माता राकेश रोशन ने पिछले हफ्ते कहा था कि वो ऋतिक रोशन और शाहरूख खान को दो हीरो वाले प्रोजेक्ट में कास्ट करना चाहते हैं। सीनियर रोशन ने कहा था कि रईस और काबिल के क्लैश से उनके बीच किसी तरह का तनाव पैदा नहीं हुआ है...

शाहरूख खान के साथ काम करने को लेकर ऋतिक रोशन ने रखी ये शर्त

फिल्म निर्माता राकेश रोशन ने पिछले हफ्ते कहा था कि वो ऋतिक रोशन और शाहरूख खान को दो हीरो वाले प्रोजेक्ट में कास्ट करना चाहते हैं। सीनियर रोशन ने कहा था कि रईस और काबिल के क्लैश से उनके बीच किसी तरह का तनाव पैदा नहीं हुआ है। ऋतिक रोशन का भी यही कहना था कि दोनों ही फिल्मों का क्लैश अपनी किस्मत है लेकिन इससे हमारी दोस्ती पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा इसी बीच वो किंग खान को दोस्त कहने से भी नहीं चुके। जहां फैंस में इन दोनों फिल्मों को लेकर लड़ाई छिड़ गई है। वहीं जब ऋतिक से पूछा गया कि अगर उनके पिता करण- अर्जुन का सीक्वल बनाते हैं और उसमें शाहरुख खान के साथ आपको कास्ट करेंगे तो इसके बारे में आप क्या सोचते हैं? इस पर एक्टर ने कहा कि मैं पहले स्क्रिप्ट पढूंगा।

बता दें कि ऋतिक से पूछा गया कि राकेश रोशन की फिल्म उनके लिए कंफर्ट जोन होती है। इसलिए आप इसमें काम करना पसंद करेंगे? इसपर उन्होंने कहा- नहीं कंफर्ट जोन केवल तभी होता है जब मुझे और मेरे पिता को स्क्रिप्ट पसंद आए। अगर उन्हें कुछ पसंद नहीं आए और मुझे नहीं आए, वहीं अगर मुझे कुछ पसंद आए और उन्हें नहीं तो उसमें कंफर्ट जोन नहीं आता। ऐसा लगता है कि ऋतिक अपनी निजी जिंदगी और प्रोफेशनल जिंदगी को अलग रखना चाहते हैं। वैसे आखिरी बार किंग खान और काबिल स्टार को 2001 में आई करण जौहर की फिल्म कभी खुशी कभी गम में साथ देखा गया था। दोनों को एक बार फिर से साथ देखना फैंस के लिए अच्छी खबर है।

गौरतलब है कि शाहरुख ने कहा कि उन्हें लगा था कि दोनों फिल्में टकराव से बच जाएंगी। शाहरुख ने बुधवार को ट्विटर पर कहा कि ऋतिक चाहते थे कि दोनों फिल्में एक ही दिन रिलीज न होतीं तो अच्छा रहता। आपको, यामी गौतम, डैड और संजय गुप्ता को प्यार, ‘काबिल’ अद्भुत होगी। शाहरुख के ट्वीट के बाद ऋतिक ने ‘दिलवाले’ अभिनेता से कहा कि एक गुरु के रूप में शाहरुख की फिल्म उन्हें जरूर प्रेरणा देगी।

साथ ही ऋतिक ने ट्विटर पर लिखा, मुझे यकीन है कि ‘रईस’ से शाहरुख एक गुरु की तरह मुझे दोबारा प्रेरित करेंगे और एक छात्र के रूप में मुझे उम्मीद है कि ‘काबिल’ से आपको मुझपर गर्व होगा। ‘रईस’ गुजरात में शराबबंदी की पृष्ठभूमि पर बनी है। जबकि ‘काबिल’ एक अंधे जोड़े की एक प्रेम कहानी है।