यूपी चुनाव: कांग्रेस की पहली लिस्ट में नए चेहरों को टिकट

यूपी विधानसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी से गठबंधन होते ही कांग्रेस ने अपने 41 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है। इस लिस्ट में बाहरी नेताओं और ऩए चेहरों को टिकट दिया गया है।

यूपी चुनाव: कांग्रेस की पहली लिस्ट में नए चेहरों को टिकट

यूपी विधानसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी से गठबंधन होते ही कांग्रेस ने अपने 41 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस लिस्ट में बाहरी नेताओं का दबदबा दिखा और प्रदेश के बड़े नेताओं के चहेतों को तरजीह दी गई है।

वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद को विधानसभा की जंग में उतारने का फैसला भी चौंकाने वाला रहा है। कांग्रेस की पहले सूची में प्रथम और द्वितीय चरण की उन सीटों पर उम्मीदवार घोषित किए गए जहां पिछले चुनाव में वह पहले-दूसरे स्थान पर थी।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक जितिन प्रसाद को आने वाले दिनों में प्रदेश में कांग्रेस अपना चेहरा भी बना सकती है। इमरान मसूद को सहारनपुर में मर्जी के प्रत्याशी उतारने की छूट देकर सियासी कद में इजाफा भी किया है। इमरान खुद नकुड़ सीट पर चुनाव लडेंग़े, लेकिन बेहट से नरेश सैनी की उम्मीदवारी को लेकर सवाल खड़े किए जा रहे हैं। इसके साथ ही देवबंद सीट पर उप-चुनाव में विजयी रहे, माविया अली का कांग्रेस छोड़कर समाजवादी पार्टी के निशान पर चुनाव मैदान में उतरने को मसूद खेमे को झटका माना जा रहा है।

बता दें कि बड़े नेताओं की पसंद होने के कारण लगातार चुनाव हार रहे रमेश धींगड़ा को मेरठ छावनी से फिर टिकट दिया गया है। इसी तरह मेरठ दक्षिण से मोहम्मद आजाद सैफी की उम्मीदवारी को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं।
कांग्रेस ने बाहरी नेताओं को टिकट थमाने में भी कोई तंगदिली नहीं दिखायी।

वहीं दूसरी तरफ एक सप्ताह पहले बीएसपी से टिकट कटने के बाद कांग्रेस में शामिल साहिबाबाद के अमरपाल शर्मा को भी आते ही टिकट थमा दिया गया। बीएसपी से हाल में आए अनीस अहमद उर्फ फूल बाबू को भी उम्मीदवार बना दिया गया तो लोनी में शेर नबी चमन और शिकारपुर में उदयकरन दलाल जैसे नए चेहरों पर दांव खेला गया है।