US: फ्लोरिडा एयरपोर्ट पर गोलीबारी में 5 लोगों की मौत, 8 घायल

यूएस के फ्लोरिडा फोर्ट लॉडरडेल इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर हुई गोलीबारी में 5 लोगों की मौत हो गई वहीं 8 अन्य लोग घायल हो गए। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया है।

US: फ्लोरिडा एयरपोर्ट पर गोलीबारी में 5 लोगों की मौत, 8 घायल

यूएस के फ्लोरिडा फोर्ट लॉडरडेल इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर हुई गोलीबारी में 5 लोगों की मौत हो गई वहीं 8 अन्य लोग घायल हो गए। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक हमलावर की पहचान एस्टबेन सेंटियागो (26) के तौर पर की गई है। बताया जाता है कि हथियार उसके लगेज में ही था। इसके अलावा उसके पास मिलिट्री का आईडी कार्ड भी था। एस्टबेन को मांसिक तौर पर बीमार भी बताया जा रहा है। वह आर्मी में नौकरी कर चुका था।


मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक घटना शुक्रवार को स्थानीय समयानुसार दोपहर एक बजे और भारतीय समय के मुताबिक रात 11.30 बजे हुई।एयरपोर्ट के अधिकारियों के मुताबिक यह घटना टर्मिनल 2 के बैगेज क्लेम क्षेत्र में हुई। घटना के बाद पुलिस ने एयरपोर्ट को पूरी तरह खाली करा दिया। यूएस के फेडरल एविएशन के अधिकारियों ने इस एयरपोर्ट पर फ्लाइट की आवाजाही पर फिलहाल रोक लगा दी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। व्हाइट हाउस की पूर्व प्रेस सेक्रेटरी एरी फ्लीशर ने ट्वीट में कहा कि ' मैं अभी फोर्ट लॉडरडेल एयर पोर्ट पर हूं। कई गोलियां चलने की आवाजें सुनीं। लोग तेजी से इधर उधर भाग रहे हैं।'


लॉ इन्फोर्समेंट अधिकारियों के मुताबिक सेंटियागो शुक्रवार को अलास्का से फ्लोरिडा आया था। जब वह हवाई अड्डे में पहुंचा तो उसने बैगेज क्लेम एरिया में अपने बैग से गन निकाली और गोलीबारी शुरू कर दी।



अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सेंटियागो ने 2007 में प्यूर्तो रिको में नेशनल गार्ड ज्वाइन किया था। नेशनल गार्ड ज्वाइन करने से पहले वह आर्मी की रिजर्व फोर्स में था और साल 2010 में वह 10 महीनों के लिए इराक गया था। 2014 में उसे खराब परफॉर्मेंस के चलते बाहर कर दिया गया था।



अधिकारियों के अनुसार आरोपी कुछ महीने पहले एफबीआई के ऑफिस में गया था। एफबीआई ऑफिस में सेंटियागो ने कहा था कि उसे लग रहा है कि कुछ आवाजें सुनाई दे रही है। जब अधिकारियों को उसके मांसिक स्थिति पर शक हुआ तो उन्होंने उसके दिमाग के चेकअप के लिए हॉस्पिटल भेज दिया था।