चाइल्ड पोर्नोग्राफी अपलोड करने के मामले में अमेरिकी नागरिक गिरफ्तार

तेलंगाना पुलिस की साइबर अपराध शाखा ने बाल पोर्नोग्राफी डाउनलोड और अपलोड करने के आरोप में एक बहुराष्ट्रीय कंपनी के साथ काम करने वाले अमेरिकी नागरिक को गिरफ्तार किया है।

चाइल्ड पोर्नोग्राफी अपलोड करने के मामले में अमेरिकी नागरिक गिरफ्तार

तेलंगाना पुलिस की साइबर अपराध शाखा ने वीडियो और तस्वीरों के रूप में कथित तौर पर बाल पोर्नोग्राफी डाउनलोड और अपलोड करने के आरोप में यहां की एक बहुराष्ट्रीय कंपनी के साथ काम करने वाले एक अमेरिकी नागरिक को गिरफ्तार किया है। सीआईडी द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि आरोपी की पहचान जेम्स किर्क जोन्स के रूप में की गई है। पुलिस को एक आईपी पते की इंटरपोल सूचना मिली जिसके बाद यह कार्रवाई की गई। इस आईपी पते से बाल पोर्नोग्राफी साझा की जा रही थी। आरोपी को कल गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने सूचना प्रौद्योगिकी कानून, 2000 की संबद्ध धारा के तहत मामला दर्ज किया है और जांच की जा रही है।

पुलिस को क्या मिला?

- सर्च के दौरान पुलिस को जोंस के पास से पोर्नोग्राफी के कई वीडियो और फोटोज मिलीं।

- इसके लैपटॉप में 29,288 वीडियो और इमेज, 490 गीगा ट्राइब प्रोफाइल्स (फाइल शेयरिंग साइट्स) और 24 ट्विटर हैंडलर्स/प्रोफाइल्स भी मिले। ऐसा आरोप है कि वह इनसे ही कंटेंट शेयर करता था।

- पुलिस के मुताबिक, इसने अब तक 497 लोगों को पोर्नोग्राफी कंटेंट शेयर किया था।

- एक हार्ड ड्राइव और आईफोन भी जब्त किया गया।


बचपन से थी ये आदत

- पुलिस के मुताबिक, जोंस ने माना है कि उसे यह आदत बचपन से है। वो पोर्नोग्राफी इमेज और वीडियो को डाउनलोड करता है और लोगों से शेयर करता था।

- जोंस को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया गया था।

वहीं पुलिस ने आरपी से एक लौपटॉप भी बरामद किया है जिसमें लगभग 30 हजार चाइल्ड अब्यूस कंटेंट मौजूद था। साथ ही एक iफोन भी बरामद किया गया है। इसके अलावा एक एक्सटर्नल हार्ड-ड्राइव भी बरामद की गई है जिसमें एडल्ट पॉर्न सामग्री होने की बाद सामने आ रही है। जॉन ने यह बात कुबूल की है कि वह लंबे समय से चाइल्ड पॉर्न कंटेंट देखता था और उसे नेट पर अपलोड और डाउनलोड किया करता था।