मुझे बिना ट्रायल गुनहगार माना जा रहा है: विजय माल्या

विजय माल्या ने स्टॉक मार्केट से बैन किए जाने पर सेबी की इस कार्रवाई से नाराज हाेकर आज शुक्रवार को तीन और ट्वीट किया। बैन किये जाने पर उन्होंने कहा कि मुझे बिना ट्रायल के गुनहगार माना जा रहा है।

मुझे बिना ट्रायल गुनहगार माना जा रहा है: विजय माल्या

विजय माल्या ने स्टॉक मार्केट से बैन किए जाने पर सेबी की इस कार्रवाई से नाराज हाेकर आज शुक्रवार को तीन और ट्वीट किया। बैन किये जाने पर उन्होंने कहा कि मुझे बिना ट्रायल के गुनहगार माना जा रहा है। माल्या ने कहा कि अभी तक बताया जा रहा है कि मैं बैंकों का पैसा लेकर भाग गया। लेकिन मैंने कभी पैसा उधार नहीं लिया। माल्या ने बीते गुरुवार को भी ट्वीट किया था। उन्होंने कहा था, "यूनाइटेड स्पिरिट्स को फंड डायवर्जन के मुझ पर लगे आरोप बेसलेस हैं और उनका कोई कानूनी आधार नहीं है।" साथ ही यह भी कहा, "बंद हो चुकी किंगफिशर एयरलाइंस से संबंधित फंड के डायवर्जन के आरोप एक मजाक की तरह हैं और मुझ पर हो रही कार्रवाई का कोई लीगल आधार नहीं है। बता दें कि माल्या 2 मार्च को देश छोड़कर चले गए थे। माल्या ने फिर क्या कहा।


 माल्या ने पहले ट्वीट में कहा - "अभी तक ये बताया जा रह है कि मैं बैंकों का पैसा लेकर भाग गया। लेकिन मैंने कभी पैसा उधार नहीं लिया। "अभी तक ज्यूडिशियरी ने यह तय नहीं किया कि किंगफिशर एयरलाइंस पर बैंकों का कितना बकाया है? ट्रायल के बाद मेरे पास कितना उधार बाकी रह जाएगा। "मुझे लगता है कि हमारे देश में जब तक प्रूव न हो जाए तब तक किसी को गुनहगार नहीं माना जा सकता। मीडिया ने मुझे बिना ट्रायल के दोषी करार दे दिया है। इसी बात को लगातार फैलाया जा रहा है।


बता दें कि मार्केट रेग्युलेटर सेबी ने बुधवार को फंड डायवर्जन के मामले में बड़ा एक्शन लेते हुए माल्या को सिक्युरिटी मार्केट से बैन कर दिया था। इसका मतलब है कि माल्या अब भारत की किसी भी लिस्टेड कंपनी में डायरेक्टर या की मैनेजरियल परसन्स (केएमपीएस) जैसी पोजीशन पर नहीं रहेंगे। सेबी ने माल्या के अलावा 6 और लोगों पर भी ये बैन लगाया है।


मुझ पर लगे आरोप गलत हैं- माल्या

माल्या ने गुरुवार को लिखा था , "सीबीआई ने किंगफिशर से फंड के डायवर्जन का आरोप लगाया था। सेबी ने यूएसएल से किंगफिशर में फंड डायवर्जन का आरोप लगाया। यह क्या मजाक है? "यूएसएल से बाहर फंड के डायवर्जन के आरोप बेसलेस हैं। यूएसएल के अकाउंट्स को प्रिंसिपल ऑडिटर्स, बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स और शेयरहोल्डर्स ने मंजूरी दी थी।"


सबसे बड़ी स्पिरिट्स कंपनी खड़ी की, मुझे मिला क्या?

माल्या ने ट्वीट किया, "30 साल में मैंने दुनिया की सबसे बड़ी स्पिरिट्स कंपनी और भारत की सबसे बड़ी शराब कंपनी खड़ी की। साथ ही सबसे बेहतरीन एयरलाइन खड़ी की। मुझे मिला क्या। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार बिना किसी लीगल आधार पर उनके खिलाफ एक्शन ले रही है।


किंगफिशर पर लगे थे ये आरोप
1000 से भी ज्‍यादा पेज की चार्जशीट में सीबीआई ने किंगफिशर एयरलाइंस पर कई आरोप लगाए हैं। आरोप है कि एयरलाइन ने आईडीबीआई की तरफ से मिले 900 करोड़ रुपए के लोन में से 254 करोड़ रुपए का निजी इस्‍तेमाल किया। सीबीआई ने यह चार्जशीट मुंबई स्थि‍त सीबीआई कोर्ट में दाखिल की है। एजेंसी ने ये भी कहा कि आईडीबीआई ने कंपनी को रविवार के दिन लोन दिया था, जो कि आरबीआई के नियमों के खिलाफ है। इस मामले में आईडीबीआई बैंक के पूर्व चेयरमैन योगेश अग्रवाल सहित 9 लोगों को हाल में गिरफ्तार किया गया था। सीबीआई की मांग पर कोर्ट ने आरोपियों को 7 फरवरी तक हिरासत में भेज दिया। इनकी जमानत याचिका पर 30 जनवरी को कोर्ट सुनवाई करेगी।


कितने कर्जदार हैं माल्या?
31 जनवरी 2014 तक किंगफिशर एयरलाइंस पर बैंकों के 6,963 करोड़ रुपए बकाया था। इस कर्ज पर इंटरेस्ट के बाद माल्या की टोटल लायबिलिटी 9,000 करोड़ रुपए से ज्यादा हो चुकी है। स्टेट बैंक ऑफ इंडि‍या (SBI) की अगुआई वाले बैंकों का कन्सोर्टियम किंगफिशर हाउस का कई बार ऑक्शन कर चुका है, लेकिन कोई खरीदार नहीं मिला। इसमें एसबीआई कैप ट्रस्टी कंपनी लिमिटेड शामिल है। इस कंपनी को फरवरी 2015 में किंगफिशर हाउस का कब्जा मिला था। किंगफिशर एयरलाइंस अक्टूबर 2012 में बंद हो गई थी। दिसंबर 2014 में इसका फ्लाइंग परमिट भी कैंसल कर दिया गया।