कोई ईश्वर के नाम पर हत्या नहीं कर सकता: पोप फ्रांसिस

पोप फ्रांसिस ने दुनियाभर में हो रहे जिहादी हमलों को ‘नरहत्या की सनक’ करार देकर निंदा की है और सभी धार्मिक प्रमुखों से दृढता से यह आह्वान करने की अपील की ‘कोई ईश्वर के नाम पर कभी हत्या नहीं कर सकता है।’

कोई ईश्वर के नाम पर हत्या नहीं कर सकता: पोप फ्रांसिस

पोप फ्रांसिस ने दुनियाभर में हो रहे जिहादी हमलों को ‘नरहत्या की सनक’ करार देकर निंदा की है और सभी धार्मिक प्रमुखों से दृढता से यह आह्वान करने की अपील की ‘कोई ईश्वर के नाम पर कभी हत्या नहीं कर सकता है।’

अंतरराष्ट्रीय मीडिया में आ रही खबरों के मुतबिक पोप फ्रांसिस ने वैटिकन के राजनयिक कोर में अपने कठोर एवं व्यापक भाषण में इस बात पर दुख प्रकट किया है कि अब भी यदा-कदा धर्म का अस्वीकृति, हाशिये पर होने तथा हिंसा के बहाने के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने कट्टरपंथ प्रेरित आतंकवाद का हवाला दिया, जिसने वर्ष 2016 में अफगानिस्तान, बांग्लादेश, बेल्जियम, बुरकिना फासो, मिस्र, फ्रांस, जर्मनी, इराक, जोर्डन, नाईजीरिया, ट्यूनीशिया, तुर्की और अमेरिका में लोगों को अपना शिकार बनाया।

पोप फ्रांसिस ने कहा हम नरहत्या करने की सनक की स्थिति से जूझ रहे हैं जहां वर्चस्व और ताकत के खेल में हत्या फैलाने के लिए ईश्वर के नाम का दुरुपयोग किया जाता है। उन्होंने कहा कि मैं सभी धार्मिक प्रमुखों से इस बात का दृढ़ता से आह्वान करने में साथ आने की अपील करता हूं कि कोई ईश्वर के नाम पर हत्या नहीं कर सकता है।