बजट में रेलवे विकास के लिए 1 लाख 31 हजार करोड़ का एलान

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आम बजट के साथ ही रेलवे बजट पेश किया। इस बजट में रेलवे विकास के लिए 1 लाख 31 हजार करोड़ का एलान किया गया।

बजट में रेलवे विकास के लिए 1 लाख 31 हजार करोड़ का एलान

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आम बजट के साथ ही रेलवे बजट पेश किया। 93 सालों में यह पहली बार है कि रेल बजट आम बजट का हिस्सा बनाकर पेश किया गया। वहीं आम बजट के साथ कई सालों बाद पेश हुए रेल बजट में कुछ खास नजर नहीं आया। हालांकि सुधार के लिए कई तरह के एलान किए गए हैं। इस बार बजट में रेल यात्रियों को किराए में छूट जैसे कोई एलान नहीं किए गए हैं, लेकिन राहत की बात यह है कि किरायों में किसी तरह की कोई बढ़ोतरी की गई है।

आम बजट के साथ पेश हुए रेल बजट की खास बातें

– रेल संरक्षा के लिए 1 लाख करोड़ रुपये फंड का एलान किया।

– 2020 तक मानव रहित क्रासिंग पूरी तरह खत्म होगी।

– रेलवे विकास के लिए 1 लाख 31 हजार करोड़ का एलान किया।

– स्टेशनों के विकास के लिए 25 स्टेशन का चयन।

– रेलवे में स्वच्छता, सुरक्षा पर जोर।

– 3500 किमी नई रेल लाइन बनेंगी।

– 7000 हजार स्टेशनों पर सोलर लाइनें।

– IRCTC से ई-टिकट पर सर्विस चार्ज नहीं लगेगा।

– 500 रेलवे स्टेशनों को दिव्यांगों के लिए आसान बनाया जाएगा।

– 2019 तक बॉयो टॉयलेट बनेंगे।

– IRCTC अब शेयर बाजार का हिस्सा होगी, रेलवे से जुड़ी तीन कंपनियां शेयर बाजार में शामिल होंगी।

– क्लीन माई कोच सेवा की शुरुआत की जाएगी।

-मेट्रो रेल के लिए नई नीति की घोषणा की जाएगी।

-टूरिज्म और धार्मिक यात्राओं के लिए अलग से ट्रेनें चलाई जाएंगी।

-कोच की शिकायतों के लिए कोच मित्र योजना लाई जा रही है।