9 गोलियां खाने के बाद भी आतंकी को किया ढेर, हालत गंभीर

आतंकियों के साथ मुठभेड़ में घायल हुए सीआरपीएफ अधिकारी चेतन चीता की हालत गंभीर बनी हुई है। उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है और उनकी हालत स्थिर है।

9 गोलियां खाने के बाद भी आतंकी को किया ढेर, हालत गंभीर

बांदीपुरा में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में घायल हुए सीआरपीएफ अधिकारी चेतन चीता की हालत गंभीर बनी हुई है। फिलहाल उन्हें दिल्ली के एम्स के ट्रॉमा सेंटर में रखा गया है। डॉक्टरों के अनुसार, उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है और उनकी हालत स्थिर है। हालांकि, वो अब भी खतरे से बाहर नहीं हैं। शनिवार को आर्मी चीफ बिपिन रावत भी अस्पताल में उन्हें देखने पहुंचे।

सीआरपीएफ कमांडेंट चेतन चीता श्रीनगर के बांदीपुरा में आतंकी मुठभेड़ के दौरान घायल हो गए थे। श्रीनगर के सेना अस्पताल से उन्हें एयर एंबुलेंस के जरिए दिल्ली लाया गया था। यहां उनके दिमाग का ऑपरेशन किया गया। डॉक्टरों के मुताबिक उनके चेहरे और सिर पर कई गंभीर चोटें हैं। गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजू ने कहा था कि चीता की मदद के लिए सरकार कोई कसर बाकी नहीं रखेगी।

बांदीपुरा के खान मोहल्ला में आतंकियों की मौजूदगी की खबर मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपरेशन चलाया था। चेतन चीता इस ऑपरेशन में सीआरपीएफ जवानों की अगुवाई कर रहे थे। मीडिया रिपोटर्स के मुताबिक, आतंकियों को पहले ही ऑपरेशन की खबर मिल गई थी और उन्होंने अपना ठिकाना बदल लिया।

अपनी टुकड़ी को सबसे अगली कतार से लीड कर रहे चीता पर आतंकियों ने एक साथ 30 गोलियां दागीं। उनके शरीर के अलग-अलग हिस्सों में कुल 9 गोलियां लगीं। इसके बावजूद चेतन ने आतंकियों पर 16 राउंड फायर किये और एक आतंकी को ढेर किया.