आयकर विभाग को मिली AAP के चंदा रिकॉर्ड में गड़बड़ी, पार्टी का रजिस्ट्रेशन हो सकता है रद्द

आप को लेकर आयकर विभाग ने दावा किया है कि पार्टी ने 27 करोड़ रुपये के चंदे को लेकर जो ऑडिट रिपोर्ट तैयार की है उसमें कई तरह की गड़बड़ियां पाई गई हैं। चुनाव आयोग को सौंपी गई...

आयकर विभाग को मिली AAP के चंदा रिकॉर्ड में गड़बड़ी, पार्टी का रजिस्ट्रेशन हो सकता है रद्द



आप को लेकर आयकर विभाग ने दावा किया है कि पार्टी ने 27 करोड़ रुपये के चंदे को लेकर जो ऑडिट रिपोर्ट तैयार की है उसमें कई तरह की गड़बड़ियां पाई गई हैं। चुनाव आयोग को सौंपी गई एक रिपोर्ट में विभाग ने कहा है कि साल 2013-14 और 2014-15 में पार्टी को मिले चंदे के रिकार्ड में कई तथ्यात्मक गड़बड़ियां पाई गई हैं।

बता दें कि चंदा देने वाले विभिन्न लोगों से मिले पैसे से यह मेल नहीं खाता। आयकर विभाग एक साल से ज्यादा वक्त से आप के चंदे की जांच कर रहा है। कानून के मुताबिक राजनीतिक दलों को चार्टर्ड अकाउंटेंटों की मदद से ऑडिट रिपोर्ट तैयार कर उसकी एक प्रति आयकर विभाग को देनी पड़ती है। अधिकारियों ने बताया कि करीब 27 करोड़ रुपये के चंदे वाले रिकॉर्ड में गड़बड़ियां हैं। उन्होंने यह भी कहा है कि पार्टी के कोषाध्यक्ष ने आयकर अधिकारियों के साथ बातचीत में इसमें कुछ गलतियों की बात स्वीकार की थी।

गौरतलब है कि आयकर विभाग ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि ये गड़बड़ियां कर कानून का उल्लंघन है। इसके कारण आयकर कानून के तहत राजनीतिक दल होने के नाते आप को मिली कर छूट को खत्म किया जा सकता है या फिर पार्टी का रजिस्ट्रेशन रद्द करने जैसा कड़ा कदम उठाया जा सकता है। लेकिन ऐसे सभी फैसले चुनाव आयोग को लेने होते हैं। इस बारे में आप प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आरोप लगाया है कि पंजाब और गोवा में हार के भय से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गंदा खेल खेलकर आप का रजिस्ट्रेशन रद्द करवाना चाहते हैं।