एयरसेल-मैक्सिस मामले में 8 फरवरी को होगी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

एयरसेल-मैक्सिस डील में पूर्व टेलिकॉम मिनिस्टर दयानिधी मारन, उनके भाई कलानिधी मारन और बाकी आरोपियों को बरी करने के खिलाफ ईडी ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है, जिसपर सुनवाई 8 फरवरी को होगी...

एयरसेल-मैक्सिस मामले में 8 फरवरी को होगी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई



एयरसेल-मैक्सिस डील में पूर्व टेलिकॉम मिनिस्टर दयानिधी मारन, उनके भाई कलानिधी मारन और बाकी आरोपियों को बरी करने के खिलाफ ईडी ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. मामले में 8 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है.

बता दें, दिल्ली की एक अदालत ने गुरुवार को कहा कि कथित भ्रष्टाचार को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री दयानिधि मारन पर मुकदमा नहीं चलाया जाएगा. दयानिधि मारन पर जांच एजेंसियों ने एयरसेल के अधिग्रहण के लिए लगभग 700 करोड़ की किकबैक के बदले मलेशियाई ग्रुप मैक्सिस की मदद करने का आरोप लगाया था.

वहीं सीबीआई ने दावा किया है कि सौदा हो जाने के बाद 700 करोड़ रुपये 'गैरकानूनी तुष्टीकरण' के रूप में सन समूह के ज़रिये मारन बंधुओं को दिए गए, जो एक टीवी चैनलों और सैटेलाइट टीवी सेवाएं देने वाला मीडिया ग्रुप है,

जज ने कहा, ‘मैं संतुष्ट हूं कि (सीबीआई का) पूरा मामला सरकारी फाइलों को गलत पढ़ने, गवाहों के विरोधाभासी बयानों, अटकलबाजियों और शिकायतकर्ता सी. शिवशंकरन की शंकाओं पर आधारित है. मुझे यह कहने में कोई हिचक नहीं कि प्रथम दृष्टया किसी आरोपी के खिलाफ कोई ऐसा मामला नहीं बनता कि उनके खिलाफ आरोप तय किए जाएं.’

ईडी के मामले में आरोपियों को आरोप-मुक्त करते हुए न्यायाधीश ने कहा, ‘अनुसूचित अपराध के मामले में आरोपियों के आरोप-मुक्त कर दिए जाने के मद्देनजर मैं संतुष्ट हूं कि यह मामला आधारहीन हो गया और इसमें अब कुछ नहीं बचा. लिहाजा, सभी आरोपियों को आरोप-मुक्त करने का आदेश दिया जाता है और वे आरोप-मुक्त हैं.’

स्पेशल कोर्ट ने सुनाया था फैसला...

- गुरुवार को मामले की सुनवाई कर रहे स्पेशल जज ओपी. सैनी ने मारन और उनके भाई को बरी करने का फैसला सुनाया था। बता दें कि जस्टिस सैनी ही 2जी स्पैक्ट्रम मामले की जांच कर रहे हैं.

- सीबीआई ने इस मामले की जांच की थी। उसने मारन ब्रदर्स के अलावा राल्फ मार्शल, टी. आनंद कृष्णन, सन डायरेक्ट टीवी, ऑल एशिया नेटवर्क यूके और साउथ एशिया एंटरटेनमेंट होल्डिंग लिमिटेड के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था.

- इसी मामले में तब के टेलिकॉम सेक्रेटरी जेएस. शर्मा के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया था. उनकी जांच के दौरान मौत हो गई थी.
- ईडी ने मनी लांड्रिंग केस में मारन ब्रदर्स के अलावा कलानिधी की वाइफ कावेरी और कुछ दूसरे लोगों के नाम लिए थे.
- सुनवाई के दौरान सभी आरोपियों ने खुद पर लगाए गए आरोपों को नकार दिया था.
- डील में शामिल दो मलेशियाई नागरिकों राल्फ मार्शल और टी. आनंद कृष्णन के खिलाफ अलग से केस चलता रहेगा.