BJP को रोकने के लिए कांग्रेस से हाथ मिला सकती है शिवसेना!

बीएमसी के नतीजों में किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है। इसके बाद सियासी गलियारों में अटकलें लगाई जा रही है कि शिवसेना बीजेपी को रोकने के लिए कांग्रेस से हाथ मिला सकती है।

BJP को रोकने के लिए कांग्रेस से हाथ मिला सकती है शिवसेना!

बीएमसी चुनाव के नतीजे जारी होने के बाद महाराष्ट्र की राजनीति गर्मा गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीएमसी चुनावों में बहुमत के लिए पर्याप्त सीटें न मिलने के बाद शिवसेना ने अब देश के सबसे अमीर मुंबई नगर निगम पर कब्जा जमाने और बीजेपी को दौड़ से बाहर करने के लिए कांग्रेस के साथ हाथ मिला सकती है।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक इसके लिए उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस से समर्थन मांगा है तांकि शहर के मेयर की कुर्सी पर शिवसेना का कब्जा हो सके। शिवसेना ने कांग्रेस को समर्थन के बदले डिप्टी मेयर का पद ऑफर किया है।

वहीं महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चौहान ने पार्टी के सीनियर नेताओं की एक बैठक बुलाई है, जिसमें शिवसेना के प्रस्ताव के बारे में चर्चा की जाएगी। इस बैठक में पूर्व सीएम सुशील कुमार शिंदे, नारायण राणे, सांसद हुसैन दलवई शामिल होंगे।

इससे पहले अशोक चौहान के नजदीकी कांग्रेस विधायक अब्दुल सतार ने कहा था कि पार्टी शिवसेना को समर्थन देने के बारे में विचार करेगी। उन्होंने कहा था बीजेपी हमारी सबसे बड़ी प्रतिद्वंदी है, इसलिए पार्टी की राज्य इकाई बीएमसी ही नहीं बल्कि राज्य के बाकी बाकी निकाय चुनावों और जिला परिषद् के चुनावों में भी शिवसेना को समर्थन देने के बारे में पार्टी आलाकमान को एक प्रस्ताव भेजेगी।

गौरतलब है कि गुरुवार को बीएमसी के नतीजों में किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है। 227 सीटों में से शिवसेना के खाते में 84 सीटें आई हैं जबकि बीजेपी को भी 82 सीटें मिलीं है। वहीं कांग्रेस के पास 31, एनसीपी के पास 9 और मनसे के पास 7 सीटें है।