योगी आदित्यनाथ का भड़काऊ बयान, कहा- राम मंदिर चाहिए या करबला और कब्रिस्तान

भाजपा सांसद याेगी आदित्यनाथ ने जनसभा काे संबाेधित करते हुए विवादित बयान दिया, योगी ने कहा कि जनता को अब फैसला करना है कि धर्म और जाति के नाम पर बांटने वाले चाहिए या विकास करने वाली सरकार चाहिए।

योगी आदित्यनाथ का भड़काऊ बयान, कहा- राम मंदिर चाहिए या करबला और कब्रिस्तान

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले की 4 विधानसभा सीटों पर पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों को जिताने के लिए भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है। प्रचार के अंतिम दिन गोरखपुर के भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ ने धुंआधार कई जनसभाओं को संबोधित किया जहां वे अखिलेश सरकार पर जमकर बरसे, साथ ही विवादित बयान दे डाला।

मीडिया रिपाेर्टस के मुताबिक जनसभा काे संबाेधित करते हुए योगी ने कहा कि जनता को अब फैसला करना है कि धर्म और जाति के नाम पर बांटने वाले चाहिए या विकास करने वाली सरकार चाहिए। योगी ने भड़काऊ बयान देते हुए यह भी कहा कि राम मंदिर चाहिए या करबला और कब्रिस्तान, फैसला अब जनता के हाथ है।

चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि 'अखिलेश जी कहते हैं कि हमारा काम बोलता है। प्रदेश की जनता उन्हें बता दें कि उनका काम नहीं, कारनामा बोलता है। यूपी में इस जिले को सबसे कम बिजली मिलती है, सड़कें चलने लायक नहीं रह गई हैं। यहां के समाजवादी पार्टी के विधायकों व उनके परिवारवालों पर तमाम आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं।

योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश पर व्यक्तिगत हमला बोलते हुए कहा कि आज अखिलेश ने इतिहास को धोखा दिया है एक जमाने में कंस हुआ करता था, उसने अपने ही पिता को कारागार में डालकर स्वयं राज्य पर कब्जा कर खुद को राजा घोषित कर दिया था। उसी प्रकार औरंगजेब ने अपने ही पिता को किले में कैद करवा कर खुद को राजा घोषित कर दिया था, यही कार्य अब अखिलेश ने किया है और अपने पिता को टूटी हुई साइकिल से उतार कर खुद को बादशाह घोषित कर लिया है। जब भी पिता को हटाकर सत्ता पर कब्ज़ा करने वालो का नाम लिया जायेगा तो उस इतिहास में अखिलेश का नाम जरूर लिया जाएगा।