सिक्यॉरिटी फीचर्स में सेंध, बांग्लादेश-भारत बॉर्डर पर पकड़े गए 2 लाख के जाली नोट

भारत सरकार ने 8 नवंबर को 500, 1000 के नोट बंद कर दिए थे। सरकार ने नोटबंदी की इस जरूरत के पिछे एक कारण फेक करंसी के जाल को खत्म करना बताया था...

सिक्यॉरिटी फीचर्स में सेंध, बांग्लादेश-भारत बॉर्डर पर पकड़े गए 2 लाख के जाली नोट

भारत सरकार ने 8 नवंबर को 500, 1000 के नोट बंद कर दिए थे। सरकार ने नोटबंदी की इस जरूरत के पिछे एक कारण फेक करंसी के जाल को खत्म करना बताया था। बंगाल के मुर्शिदाबाद में फेक करंसी रैकिट का भंडाफोड़ होने के बाद फिर से 2 लाख रुपए मूल्य के फेक नोट जब्त किए गए। हैरान करने वाली बात यह है कि इस बार फेक नोटों की यह बरामदगी भारत-बांग्लादेश के बॉर्डर के बहुत करीब हुई है।

बता दें कि इससे पहले भी  इस्लामपूर में 35 किमी दूर जाली नोट बॉर्डर से बरामद किए गए हैं। लेकिन इस बार जीरो लाइन के एक गांव से जाली नोट बरामद हुए। यह गांव बॉर्डर पर बाड़ेबंदी और अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर के पिलरों के बीच स्थित है। फेक नोटों को ट्रैक करने के लिए बनी स्पेशल टीम ने इलाके से उमर फारुक को गिरफ्तार किया है। उमर अपने गिरोह के दूसरे मेंबर्स से मिलने गया था। जांच करने पर टीम को पता चला कि नकली नोटों की खेप बांग्लादेश से भारत पहुंचने वाली है।

गौरतलब है कि उसके पास से 3 नकली 2000 के नोट और एक फोन मिला। फारुक के परिवार के कम से कम 3 लोग नकली नोटों से जुड़े मामलों में सजा काट रहे हैं। फेक करंसी की सप्लाइ चेन में कम से कम 25 लोग जुड़े होते हैं। फेक करंसी के बिजनस में भारी भरकम निवेश करना पड़ता है। 500 और 1000 के नोट बंद होने से इस बिजनस की कमर तो टूट गई है लेकिन मार्केट को बनाए रखने के लिए नए नोटों की जाली खेप भी मार्केट में लाई जा रही है।

सात ही बरामद किए गए जाली नोटों की क्वालिटी मुर्शिदाबाद में मिले नोटों जैसी ही है। सुरक्षा एजेंसियों ने बताया कि जाली नोटों का बिजनस करने वालों के लिए यह सैंपल सर्वे जैसा है। अधिकारियों ने बताया कि इन नोटों को बांग्लादेश के ही एक छोटे से गांव में बनाया जाता है न कि पाकिस्तान से लाया जाता है। जाली नोट बनाने वालों ने नए 2000 और 500 के नोटों की काफी हद तक नकल कर ली है लेकिन कागज की क्वॉलिटी अभी भी उनकी पहुंच से दूर ही लग रही है। बीएसएफ अधिकारी ने बताया, 'जाली नोटों की पेपर क्वॉलिटी खराब है। नए नोटों की तरह इनमें शाइन नहीं है।'