BSF जवान तेज बहादुर सिंह की पत्नी ने गृह मंत्रालय से लगाई गुहार

खराब खाने को लेकर अपना आवाज बुलंद करने वाले बीएसफ के जवान तेज बहादुर सिंह की पत्नी अपने पति के लिए पीएम माेदी से गुहार लगाई।

BSF जवान तेज बहादुर सिंह की पत्नी ने गृह मंत्रालय से लगाई गुहार

खराब खाने को लेकर अपना आवाज बुलंद करने वाले बीएसफ के जवान तेज बहादुर सिंह के घर पर उनकी सेवानिवर्ती को लेकर जहां पूरा परिवार व ग्रामीण खुशियां मनाने के लिए तैयारियों में जुटे हुए थे। दूसरी तरफ अब तेज बहादूर को VRS नहीं देकर उन्हें जांच के लिए हिरासत में ले लिया गया है। वहीं उनकी पत्नी शर्मिला का कहना है कि सरकार पर उन्हें पूरा विश्वास था कि उनको 31 जनवरी को VRS देकर घर सकुशल घर भेज देंगे, लेकिन अब उन्हें जांच के नाम पर प्रताड़ित किया जा रहा है।



 मीडिया रिपाेर्टस के मुताबिक देर रात जवान तेज बहादूर ने अपनी पत्नी शर्मिला काे फोन पर यह जानकरी दी कि उनको प्रताड़ित किया जा रहा है। अगर सरकार उनके साथ न्याय नहीं करती है तो वह अनशन करंगे। जवान के घर आने के लिए पूरा परिवार जहां उनके इंतजार में आंखे बिछाये बैठे थे लेकिन अब उनके घर पर सन्नाटा पसरा हुआ है। अब देखना यह होगा कि अपने हक के लिए आवाज बुलंद करने वाले जवान तेज बहादुर को न्याय मिलता है या फिर जवानों के हक़ की आवाज भ्रष्टाचार की भेट चढ़ कर रहा जायेगी। बीएसएफ ने तेज बहादुर का 31 तारिख को मिलने वाला वीआरएस रद्द कर दिया था।

ज्ञात हाे कि तेज बहादुर यादव ने वीडियो में आरोप लगाया था कि बीएसएफ जवानों को मिलने वाली दाल और परांठे की क्वालिटी बेहद खराब है। उनका कहना था कि कई बार जवानों को 11 घंटे बर्फ में खड़ा रहने के बाद भूखे पेट सोना पड़ता है। यादव का दावा था कि जवानों को मिलने वाले राशन में सीनियर अफसर धांधली कर रहे हैं। इसके बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जांच के आदेश दिए थे।


बीएसएफ ने गृह मंत्रालय को सौंपी गई शुरुआती जांच में यादव के आरोपों को सिरे से खारिज किया था। हालांकि मामले की अंतिम रिपोर्ट अभी आनी बाकी है। लेकिन बीएसएफ ने गृह मंत्रालय को बताया है कि 29वीं बटालियन के किसी दूसरे जवान ने यादव के आरोपों की तस्दीक नहीं की थी।