BSSC पेपर लीक मामला, बीएसएससी अध्यक्ष गिरफ्तार

बीएसएससी के पेपर लीक होने से एसआईटी ने सुधीर कुमार के साथ उनके चार रिश्तेदारों को भी गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल पुलिस सभी से पूछताछ कर रही है...

BSSC पेपर लीक मामला, बीएसएससी अध्यक्ष गिरफ्तार

बीएसएससी के पेपर लीक होने से एसआईटी ने सुधीर कुमार के साथ उनके चार रिश्तेदारों को भी गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल पुलिस सभी से पूछताछ कर रही है। इससे पहले भी पेपर लीक कांड में एसआईटी ने गुजरात के अहमदाबाद से प्रिटिंग प्रेस के मालिक को गिरफ्तार करके पटना लेकर आई थी।

बता दें कि इस गिरफ्तारी को एसआइटी की बड़ी सफलता माना जा रहा है। प्रिटिंग प्रेस के मालिक पर आरोप है कि उसकी मदद से पेपर प्रिंट करने के दौरान ही कर दिया गया था। पेपर लीक कांड में जो-जो लोग जुड़े हुए हैं एसआईटी उनकी जांच करने में जुट गई है।

गौरतलब है कि एसआइटी प्रभारी मनु महाराज गंभीरता से पूछताछ कर रहे हैं। इस मामले में और भी लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक तो दो दिन पहले पटना कोतवाली के इंस्पेक्टर रमाशंकर प्रसाद समेत आधा दर्जन पुलिसकर्मियों के साथ गुजरात गये थे और गिरफ्तारी के बाद उसे पटना लेकर लौटे गुजरात के अहमदाबाद से प्रिंटिंग प्रेस के मालिक की गिरफ्तारी के बाद यह समझा जा रहा है कि पेपर लीक कराने की साजिश बड़े स्तर पर रची गयी थी। इस खेल में आयोग से लेकर प्रिंटिंग प्रेस तक के जिम्मेदार शामिल हैं। हालांकि, एसआइटी ने आयोग के तत्कालीन सचिव परमेश्वर राम और डाटा इंट्री ऑपरेटर अविनाश समेत कई बाहरी लोगों को गिरफ्तार किया है, लेकिन अभी और लोग इसके लपेटे में आ सकते हैं।पुलिस पूरा नेटवर्क खंगलाने में जुटी है।

साथ ही अब तक की छानबीन से लगभग यह साफ हो गया है कि पेपर को प्रिंटिंग प्रेस ही बड़ी सेटिंग के जरिये लीक कराया गया था। इसके पीछे काफी बड़े लोग और नेताओं का हाथ है। प्रेस मालिक को शामिल कर यह पूरा खेल किया गया है। अब पुलिस के लिए यह जानना जरूरी हो गया है कि पेपर लीक के लिए हुई करोड़ों की डिलिंग किसने और कैसे की। पैसे कहां गये।आयोग के कौन-कौन वह चेहरे हैं जो इस पूरे मामले में शामिल है। अब प्रिंटिंग प्रेस के मालिक के दबोचे जाने के बाद पुलिस इस लाइन पर काम कर रही है।