बुरहान की मौत है कश्मीर के लिए टर्निंग प्वाइंट: सरताज अजीज

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेशी मामलो के सलाहकार सरताज अजीज का कहना है कि बुरहान वानी की मौत कश्मीर के लिए एक टर्निंग प्वाइंट की तरह थी। साथ ही अजीज ने बुरहान की मौत के बाद कश्मीर में हुई हिंसा को यूथ्स का आंदोलन करार दिया...

बुरहान की मौत है कश्मीर के लिए टर्निंग प्वाइंट: सरताज अजीज

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेशी मामलो के सलाहकार सरताज अजीज का कहना है कि बुरहान वानी की मौत कश्मीर के लिए एक टर्निंग प्वाइंट की तरह थी। साथ ही अजीज ने बुरहान की मौत के बाद कश्मीर में हुई हिंसा को यूथ्स का आंदोलन करार दिया। 8 जुलाई को सिक्युरिटी फोर्सेस के साथ एनकाउंटर में हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी बुरहान वानी मारा गया था। इसके बाद कश्मीर में जमकर हिंसा भड़की थी और राज्य में कई महीने कर्फ्यू रहा था।



बता दें कि सरताज ने ये बयान 'कश्मीर एकजुटता दिवस'  के मौके पर होने वाले एक प्रोग्राम में दिया। पाकिस्तान 5 फरवरी को कश्मीर एकजुटता दिवस मनाता है। सरताज का कहना है कि बुरहान की मौत की आड़ लेकर भारतीय सिक्युरिटी फोर्सेस ने कश्मीर में कई हत्याएं कीं। कई लोगों को पूरी तरह या अंशत: अंधा बना दिया। पाक फॉरेन मिनिस्ट्री के मुताबिक अजीज ने कहा कि भारत का बेहरम रवैया बीते 7 महीने चलता रहा। हालांकि इससे कश्मीरियों को अधिकार देने का मुद्दा खत्म नहीं होगा।


गौरतलब है कि वानी की मौत के बाद इंटरनेशनल कम्युनिटी ने इस दावे को नकार दिया है कि कश्मीर, भारत का अभिन्न हिस्सा है। पूरी दुनिया जानती है कि भारत सरकार ने कश्मीरी यूथ्स के आंदोलन को जितना दबाने की कोशिश की, उतना ही वह मजबूत हुआ है। भारत सरकार ने कश्मीर का माहौल बिगाड़ने की कोशिश की है। इस मुद्दे पर यूरोप और नॉर्थ अमेरिका के कई ह्यूमन राइट्स ऑर्गनाइजेशंस में काफी चर्चा हो चुकी है। भारत पर इस बात का दबाव बन रहा है कि वह पाकिस्तान के साथ बात करे और लंबे वक्त से चला आ रहा विवाद खत्म करें।