दरगाह पर हमले के बाद पाकिस्तानी सेना ने 100 आतंकी काे मार गिराया

पाकिस्तान सिंध प्रांत के सहवान कस्बे में स्थित सूफी संत लाल शहबाज कलंदर की दरगाह पर आत्मघाती धमाका कराने वाले आतंकियों को पाकिस्तान ने हाथोंहाथ सजा देना शुरू कर दिया है। दरगाह पर हमले के बाद पाकिस्तानी सेना ने 100 आतंकी काे मार गिराया

दरगाह पर हमले के बाद पाकिस्तानी सेना ने 100 आतंकी काे मार गिराया

पाकिस्तान सिंध प्रांत के सहवान कस्बे में स्थित सूफी संत लाल शहबाज कलंदर की दरगाह पर आत्मघाती धमाका कराने वाले आतंकियों को पाकिस्तान ने हाथोंहाथ सजा देना शुरू कर दिया है। बीते गुरुवार रात इस धमाके में मारे गए बेकसूर लोगों का बदला लेते हुए पाकिस्तानी सुरक्षाबलों ने सौ से ज्यादा आतंकियों को मार गिराया।

अंतरराष्ट्रीय मीडिया के मुताबिक आतंकियों के खात्मे के लिए देशभर में पूरी रात अभियान चलाया गया। सेना अधिकारियों ने आतंकियों को नेस्तनाबूद करने तक अभियान जारी रहने की बात कही है।

ज्ञात हाे कि सिंध प्रांत स्थित शहबाज कलंदर की दरगाह पर हुआ यह आतंकी हमला पिछले कुछ वर्षों में पाकिस्तान में हुए सर्वाधिक घातक हमलों में से है। इसमें करीब 100 लोगों की मौत हो गई, जबकि 250 लोग घायल हुए हैं। हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन आइएस ने ली है। पैरामिलिट्री सिंध रेंजर्स ने बताया कि प्रांत में रातभर चले अभियान में चार दर्जन से ज्यादा आतंकियों को मौत के घाट उतारा गया।

वहीं, खैबर पख्तूनख्वा प्रांत की पुलिस ने तीन दर्जन आतंकियों को मारने का दावा किया है। अधिकारियों के मुताबिक, कबायली क्षेत्र खुर्रम, बलूचिस्तान और पंजाब प्रांत के सरगोधा में भी कई आतंकियों को मारने में सफलता मिली। सेना अधिकारियों ने बताया कि आतंकियों के खिलाफ यह अभियान आगे और भी तेज होगा क्योंकि सरकार ने आतंकवाद को जड़ से मिटाने का संकल्प लिया है।

पाकिस्तान में लोगों ने बीते शुक्रवार को आतंकी हमले के खिलाफ प्रदर्शन किया। लोगों ने नागरिकों को सुरक्षा प्रदान करने में असफल रही सरकार के खिलाफ नारे लगाए। प्रदर्शनकारियों ने कई गाड़ियों में तोड़फोड़ की और पुलिस की गाड़ी को आग लगा दी। एक प्रदर्शनकारी ने बताया कि दरगाह में हजारों लोग आते हैं और उनकी जांच के लिए सिर्फ एक स्कैनर लगा है। वह भी सही तरह से काम नहीं करता।

पाकिस्तानी सेना ने अफगानिस्तान को वहां छुपे 76 आतंकियों की सूची सौंपी है। सैन्य प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने बताया कि अफगान दूतावास के अधिकारी को बुलाकर यह सूची सौंपी गई। अफगान सरकार से इन आतंकियों के विरुद्ध शीघ्र कार्रवाई को कहा गया है। हालांकि सेना ने सूची में शामिल आतंकियों का नाम सार्वजनिक नहीं किया है।

पाकिस्तान ने शुक्रवार अलसुबह अफगानिस्तान से लगी तोरखाम सीमा सील कर दी। यह सीमा अफगानिस्तान के नांगरहार प्रांत और पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा को जोड़ती है। यहां से रोजाना हजारों अफगान नागरिक अपने परिचितों से मिलने और दवाएं आदि लेने पाकिस्तान आते हैं। इस फैसले के कारण बड़ी तादाद में लोग सीमा पर फंस गए हैं।